ताज़ा खबर
 

सेंट स्टीफेंस छेड़छाड़ मामला: केंद्र सरकार ने दिल्ली विश्वविद्यालय से मांगी रिपोर्ट

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सेंट स्टीफेंस कॉलेज के एक प्रोफेसर द्वारा एक शोध छात्रा के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ करने के मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय को नोटिस जारी कर रिपोर्ट मांगी है...

Author June 24, 2015 1:55 PM
सेंट स्टीफेंस कॉलेज के प्राचार्य वाल्सन थम्पू ने इससे पहले दावा किया था कि ‘उनके खिलाफ पीड़िता का इस्तेमाल किया जा रहा है’ और ‘कथित’ बातचीत की रिकॉर्डिंग की फॉरेंसिक जांच से सब कुछ साफ हो जाएगा।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सेंट स्टीफेंस कॉलेज के एक प्रोफेसर द्वारा एक शोध छात्रा के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ करने के मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय को नोटिस जारी कर रिपोर्ट मांगी है।

सेंट स्टीफेंस के प्राचार्य वालसन थम्पू ने कहा, ‘‘यौन उत्पीड़न के मामले के संदर्भ में रिपोर्ट की मांग करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दिल्ली विश्वविद्यालय के पास निर्देश भेजा है। डीयू रजिस्टार की ओर से इस संवाद को कॉलेज के पास भेजा गया और मैंने इस पर स्थिति रिपोर्ट विश्वविद्यालय को भेज दी है।’’

सेंट स्टीफेंस कॉलेज के रसायन विज्ञान विभाग के सहायक प्रोफेसर सतीश कुमार को कल दिल्ली की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के मामले में अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया था। कुमार के तहत पीएचडी कर रही छात्रा ने पिछले सप्ताह पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि अक्तूबर, 2013 में कुमार ने उसके साथ छेड़छाड़ की।

उसने यह भी आरोप लगाया कि जब मामले की जानकारी कॉलेज प्रशासन को दी गई तो प्राचार्य वालसन थम्पू ने आरोपी प्रोफेसर को बचाने का प्रयास किया।

थम्पू ने सूचित किया कि मामला कॉलेज की आंतरिक शिकायत समिति के पास था और उसी दौरान लड़की ने विश्वविद्यालय के रसायन विभाग के पास भी यह शिकायत भेज दी। उन्होंने कहा, ‘‘मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देश में यह स्पष्ट नहीं था कि स्थिति रिपोर्ट दोनों समितियों से मांगी गई अथवा सिर्फ सेंट स्टीफेंस से अकेले मांगी गई है।’’

मंत्रालय में अधिकारियों ने कहा कि जवाब का आकलन करने के बाद इस मामले में कोई कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा, ‘‘सेंट स्टीफेंस के प्राचार्य के खिलाफ कोई कार्रवाई अथवा आगे कोई प्रगति विश्वविद्यालय के मिले जवाब के नतीजे पर निर्भर करेगी।’’

डीयू प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है कि उन्हें सेंट स्टीफेंस से जवाब मिला है और यह मंत्रालय के पास जल्द भेज दिया जाएगा। डीयू के प्रवक्ता मलय नीरव ने कहा, ‘‘कल शाम सेंट स्टीफेंस के प्राचार्य की ओर से एक नोट डीयू को मिला। विश्वविद्यालय इस पर जल्द ही मंत्रालय को जवाब देगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App