ताज़ा खबर
 

प्लेन क्रैश में मारे गए पायलट की पत्नी का फूटा गुस्सा, अधिकारियों से मौत पर मांगा जवाब

समीर और उनके को पायलट सिद्धार्थ नेगी की मिराज 2000 क्रैश में मौत हो गई थी। वे बेंगलुरु के ओल्ड एचएएल एयरपोर्ट से एक टेस्ट फ्लाइट पर थे।

Author February 11, 2019 11:17 AM
स्क्वाड्रन लीडर समीर अबरोल की पत्नी ने रविवार (10 फरवरी, 2019) को अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें यह नहीं बताया गया कि हादसा कैसे हुआ। (Express photo by Gajendra Yadav)

बीते हफ्ते प्लेन क्रैश में मारे गए स्क्वैड्रन लीडर समीर अबरोल की पत्नी ने रविवार को इस बात पर गुस्सा जाहिर किया कि उन्हें अभी तक यह पता नहीं है कि हादसा कैसे हुआ? पत्नी ने संबंधित अधिकारियों से इस बारे में जवाब मांगा है। बता दें कि समीर और उनके को पायलट सिद्धार्थ नेगी की मिराज 2000 क्रैश में मौत हो गई थी। वे बेंगलुरु के ओल्ड एचएएल एयरपोर्ट से एक टेस्ट फ्लाइट पर थे। गरिमा अबरोल चाहती हैं कि उनके पति की मौत एक आंकड़ा बनकर न रह जाए। द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में गरिमा ने कहा, ‘मेरे दिमाग में न जाने कितने सवाल हैं। मुझे कोई जवाब मिलता नहीं दिख रहा। वे मुझसे लगातार कह रहे हैं कि कोर्ट ऑफ इंक्वॉयरी होगी, लेकिन उससे क्या होगा? हम सिर्फ इंतजार करते नहीं रह सकते। हम यह जानना चाहते हैं कि आखिर सही में क्या हुआ था? इस तरह के पुराने मामलों में मैंने देखा है कि कुछ भी स्पेशल नहीं होता।’

वहीं, गरिमा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘मेरे पति को भारतीय होने पर गर्व था। मुझे उन्हें सुबह की चाय पिलाकर सिर उठाकर देश सेवा पर भेजना अच्छा लगता था। हर सैनिक के पत्नी के जीवन का सबसे बड़ा डर यही होता है कि उसके पति को जंग के मोर्च पर बुला न लिया जाए। मुझे भी यह डर सताता था। मैं कितनी बार, ऐसा बुरा सपना देखकर रोते हुए उठ गई। लेकिन समीर मुझे सांत्वना देते थे और कहते थे कि उनके काम का यही सर्वोच्च उद्देश्य है। आपको झकझोरने के लिए कितने पायलटों को अपनी जान की कुर्बानी देगी होगी। आखिर आपको कब इस बात का एहसास होगा कि कुछ सिस्टम में वाकई खराब है।’ गरिमा ने कहा कि भारतीय वायुसेना के अधिकारी उनसे लगातार संपर्क में हैं और हर वे हर संभव मदद कर रहे हैं। गरिमा ने कहा, ‘हम सब जानते हैं कि सवाल क्या हैं? मैं चाहती हूं कि मीडिया उनके जवाब ढूंढे। सरकार को यह पता करना चाहिए कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App