ताज़ा खबर
 

दिल्ली से रवाना हुई थी स्पाइसजेट की फ्लाइट, पटना की जगह वाराणसी में करवा दिया लैंड

अपने ट्वीट में स्पाइसजेट ने कहा कि फ्लाइट एसजी-8481 पटना में खराब मौसम के कारण रद्द कर दी गई थी। हम यात्रियों के संपर्क में हैं और उनके लिए अन्य फ्लाइट की व्यवस्था की जा रही है।

स्पाइसजेट की फ्लाइट को लेकर यात्रियों ने की शिकायत। (image source-Financial express)

गुरुवार को स्पाइसजेट की फ्लाइट से दिल्ली से पटना जा रहे यात्रियों को उस वक्त अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा, जब स्पाइसजेट की यह फ्लाइट पटना के बजाए उत्तर प्रदेश के वाराणसी पहुंच गई। इस दौरान यात्रियों को काफी समय वाराणसी हवाई अड्डे पर गुजारना पड़ा। बताया जा रहा है कि पटना में खराब मौसम के चलते ऐसा हुआ। हालांकि स्पाइसजेट के इस रवैये से यात्री बेहद नाराज है। कई यात्रियों ने तो इसे लेकर ट्विटर पर शिकायत भी की है। एक यात्री ने ट्वीट कर कहा कि स्पाइसजेट ने यात्रियों के साथ ‘बहुत अच्छा’ व्यवहार किया। फ्लाइट संख्या एसजी 8084, जो कि दिल्ली से पटना जा रही थी, उसमें बच्चों और बूढे लोगों को खाना भी नहीं दिया गया। यहां तक कि पटना के बजाए बनारस में उतार दिया गया। अपने इस ट्वीट के साथ यूजर ने पीएमओ, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, सिविल एविएशन इंडिया को भी टैग कर दिया था।

शिकायत मिलने के बाद सिविल एविएशन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने ट्वीट कर स्पाइसजेस से इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण मांगा है। जयंत सिन्हा के ट्वीट के जवाब में स्पाइसजेट ने भी ट्वीट कर अपना जवाब दिया है। अपने ट्वीट में स्पाइसजेट ने कहा कि फ्लाइट एसजी-8481 पटना में खराब मौसम के कारण रद्द कर दी गई थी। हम यात्रियों के संपर्क में हैं और उनके लिए अन्य फ्लाइट की व्यवस्था की जा रही है।

एयरलाइन का दावा है कि पटना में खराब मौसम के कारण फ्लाइट को वाराणसी में रात 10.30 बजे उतारा गया था। चूंकि फ्लाइट के क्रू का फ्लाइट ड्यूटी टाइम लिमिटेशन खत्म होने वाला था, जिसके चलते फ्लाइट को फिर से दिल्ली लाया गया। इस दौरान कुछ यात्री हंगामा भी करने लगे। करीब 20 यात्रियों ने फ्लाइट में चढ़ने से इंकार कर दिया था। स्पाइसजेट ने अपने एक बयान में कहा कि पूरी कोशिश की गई कि कल रात ही यात्रियों को पटना ले जाया जाए, लेकिन खराब मौसम के कारण ऐसा नहीं हो सका।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App