ताज़ा खबर
 

वीडियो: पीएम मोदी की SUV पर लटका एसपीजी अधिकारी गिरा, देखिए फिर क्‍या हुआ

जब SPG ऑफिसर ने उतरना चाहा तो वो सड़क का अंदाजा नहीं लगा सके और नीचे गिर गये। हालांकि वह फिर बिजली की तेजी से उठे और दौड़ कर SUV पर अपने पोजिशन पर आ गये। इस दौरान पीएम ने उन्हें झुककर देखा भी।

पीएम मोदी की SUV पर लटका SPG का एक ऑफिसर सड़क पर गिर गया। (वीडियो ग्रैब)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 7,500 करोड़ रुपये की लागत से बने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले चरण का उद्घाटन किया। इससे दिल्ली से मेरठ की यात्रा के समय में उल्लेखनीय कमी आएगी। दिल्ली के सराय काले खान से यूपी गेट तक फैले इस 14 लेन के राजमार्ग का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री एक खुली कार में सवार हुए और राजमार्ग के दोनों ओर बड़ी संख्या में एकत्र लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। सड़क परिवहन एवं पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी एक अलग खुली कार में मोदी के साथ चल रहे थे। यह रोड शो निजामुद्दीन पुल से शुरू हुआ। जब पीएम मोदी खुली कार पर सवार होकर जा रहे थे उस वक्त एक हादसा हो गया।

दरअसल अक्षरधाम के पास जब पीएम मोदी का काफिला गुजर रहा था, उस वक्त SUV पर पीएम की सुरक्षा में लटका एसपीजी का एक अधिकारी सड़क पर गिर पड़ा। दरअसल इस अधिकारी को चलती SUV से उतरना था। जब SPG ऑफिसर ने उतरना चाहा तो वो सड़क का अंदाजा नहीं लगा सके और नीचे गिर गये। हालांकि वह फिर बिजली की तेजी से उठे और दौड़ कर SUV पर अपने पोजिशन पर आ गये। इस दौरान पीएम ने उन्हें झुककर देखा भी। यहां पर कुछ सेकेंड पीएम का काफिला रुका फिर आगे चल पड़ा।

इस मार्ग पर छह किलोमीटर चलने के बाद मोदी उत्तर प्रदेश के बागपत के लिए रवाना हो गए। सरकार द्वारा जारी इस परियोजना के एक विज्ञापन के अनुसार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पहले चरण में 14 लेन के राजमार्ग पर नौ किलोमीटर मार्ग के निर्माण पर 842 करोड़ रुपये की लागत आई है। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर दिल्ली से डासना के बीच करीब 28 किलोमीटर मार्ग पर एक साइकिल ट्रैक बनाया गया है। इस एक्सप्रेसवे की वजह से दिल्ली से मेरठ की यात्रा का समय घटकर 45 मिनट रह जाएगा। अभी इसमें करीब ढाई घंटे का समय लगता है। इस परियोजना की पूरी लंबाई 82 किलोमीटर है। इसमें से 27.74 किलोमीटर हिस्सा 14 लेन का होगा, जबकि शेष एक्सप्रेसवे छह लेन का होगा। इस एक्सप्रेसवे से दिल्ली-मेरठ रोड पर 31 ट्रैफिक सिग्नल हट जाएंगे। यह सिग्लन या लालबत्ती मुक्त क्षेत्र हो जाएगा। यह इस इलाके का सबसे व्यस्त मार्ग है।

मोदी ने दिसंबर, 2015 में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी थी। इसके निर्माण की लागत 7,566 करोड़ रुपये थी। इस परियोजना का निर्माण चार खंडों…निजामुद्दीन पुल से यूबी बॉर्डर, यूपी बॉर्डर से डासना, डासना से हापुड़ और हापुड़ से मेरठ में किया गया है। इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर डासना-हापुड़ के 22 किलोमीटर के खंड को छह लेन का करने पर 1,122 करोड़ रुपये की लागत आई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App