scorecardresearch

सोनिया गांधी के निजी सचिव पर FIR, नौकरी का झांसा देकर रेप का आरोप

सोनिया गांधी के पर्सनल सेक्रेटरी पीपी माधवन ने रेप के आरोपों को बेबुनियाद बताया और कहा कि कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने की ये साजिश है।

सोनिया गांधी के निजी सचिव पर FIR, नौकरी का झांसा देकर रेप का आरोप
कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी (फोटो सोर्स- द इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सचिव पीपी माधवन के खिलाफ एक महिला ने दिल्ली में एफआईआर दर्ज करवाई है। एफआईआर में नौकरी और शादी का झांसा देकर उसका रेप करने जैसे गंभीर आरोप लगाए गए हैं। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और माधवन को फिलहाल गिरफ्तार नहीं किया गया है।

द्वारका के डीसीपी हर्षवर्धन ने कहा कि 71 वर्षीय पीपी माधवन के खिलाफ आरोप लगाए गए हैं, जो एक वरिष्ठ राजनीतिक नेता के पर्सनल सेक्रेटरी के रूप में काम करते हैं। उन्होंने बताया कि 25 जून को एक शिकायत मिली थी, जिसके आधार पर आईपीसी की धारा 376 (रेप) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, महिला ने माधवन पर नौकरी दिलाने और शादी करने का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला ने कहा कि 2020 में कोविड लॉकडाउन के दौरान उसके पति की मृत्यु हो गई थी, इसके बाद ही उसकी मुलाकात माधवन से हुई। महिला ने बताया कि उसका पति पार्टी कार्यालय में एक सहायक के रूप में काम करता था। उन्होंने कहा कि वह अक्सर नौकरी की तलाश में कांग्रेस कार्यालय जाती थीं।

महिला ने क्या कहा एफआईआर में
महिला ने बताया, “मेरी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी और मैं कांग्रेस कार्यालय गई जहां मुझे सोनिया गांधी के पीए पीपी माधवन का नंबर मिला। मैंने उनसे कहा कि मुझे नौकरी की जरूरत है और उन्होंने मेरी मदद करने का वादा किया… 21 जनवरी (इस साल) को उन्होंने मुझे एक इंटरव्यू के लिए बुलाया। उन्होंने मुझसे कई सवाल पूछे और मेरे सारे दस्तावेज देखे… फिर उन्होंने मुझसे कहा कि वह मुझसे शादी करना चाहते हैं। मैंने कहा हां… एक दिन, उन्होंने मुझे मिलने के लिए बुलाया… वह मुझे एक कार में लेने आए… उन्होंने अपने ड्राइवर को कार छोड़कर जाने के लिए कहा और फिर मेरा रेप करने की कोशिश की। जब मैंने इस पर आपत्ति जताई तो वह नाराज हो गए और मुझे सड़क पर अकेला छोड़ दिया।”

शिकायतकर्ता का कहना है कि आरोपी ने बाद में उससे माफी भी मांगी और वे फिर से बात करने लगे। कुछ दिनों के बाद, उन्होंने उसे फिर से मिलने के लिए बुलाया। एफआईआर के मुताबिक, “फरवरी में फोन करके उन्होंने मुझे मिलने के लिए बुलाया … और मेरा रेप किया। बाद में उन्होंने मुझे बताया कि उनकी पत्नी ने मेरा मोबाइल नंबर देखा है… यह सब सुनकर मैं चौंक गई। मैंने कई बार उनकी पत्नी के बारे में पूछा, लेकिन वह मुझे नजरअंदाज करते रहे… फिर उन्होंने मुझे किसी और के साथ संबंध बनाने के लिए मजबूर किया। मैंने मना किया तो उन्होंने मुझे यह धमकी दी कि वो मेरा अपहरण करवा देंगे। इस वजह से मैं डर गई।

पुलिस ने कहा कि महिला ने 25 जून को शिकायत दर्ज कराई और उसे मेडिकल जांच के लिए डीडीयू अस्पताल भेजा गया। उसके बयान और जांच के आधार पर पीपी माधवन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

माधवन ने कहा ये कांग्रेस को बदनाम करने की साजिश
वहीं, माधवन ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है। द इंडियन एक्सप्रेस को उन्होंने बताया, “यह सिर्फ कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने के लिए एक निराधार आरोप है। इसमें कोई सच्चाई नहीं है। यह पूरी साजिश है।”

पढें नई दिल्ली (Newdelhi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट