ताज़ा खबर
 

थरूर बोले ‘हिंदू पाकिस्तान’ तो भाजपा हुई हमलावर

भाजपा ने कांग्रेस नेता शशि थरूर के बयान पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा कि कांग्रेस ने हिंदुस्तान के लोकतंत्र और यहां के हिंदुओं पर प्रहार किया है।

Author नई दिल्ली, 12 जुलाई। | July 13, 2018 5:55 AM
कांग्रेस ने अपने नेता शशि थरूर के हिंदू पाकिस्तान वाले बयान को खारिज करते हुए अपने नेताओं को यह नसीहत दी है कि भाजपा की घृणा का जवाब देते समय वे शब्दों व वाक्यों के चयन में पूरी सावधानी बरतें।

भाजपा ने कांग्रेस नेता शशि थरूर के बयान पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा कि कांग्रेस ने हिंदुस्तान के लोकतंत्र और यहां के हिंदुओं पर प्रहार किया है। इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को थरूर के बयान पर माफी मांगनी चाहिए। थरूर ने तिरुवनंतपुरम में बुधवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी अगर साल 2019 में जीतती है, तो वह नया संविधान लिखेगी। इससे यह देश ‘हिंदू पाकिस्तान’ बनने की राह पर अग्रसर होगा। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि शशि थरूर का यह कहना है कि यदि वर्ष 2019 में भाजपा सरकार बनाती है तो भारत ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा आपत्तिजनक विषय भारत के लिए और कोई नहीं हो सकता। उन्होंने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि ‘हिंदू पाकिस्तान’ शब्द का प्रयोग करके कांग्रेस पार्टी ने देश के लोकतंत्र और यहां के हिंदुओं पर प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा से नफरत करते-करते कांग्रेस पार्टी लक्ष्मण रेखा लांघ गई है। उसने अब हिंदुस्तान के खिलाफ बोलना शुरू कर दिया है। उन्होंने मणिशंकर अय्यर और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी देश विरोधी बयान देने का आरोप लगाया।

दूसरी ओर, कांग्रेस ने अपने नेता शशि थरूर के हिंदू पाकिस्तान वाले बयान को खारिज करते हुए अपने नेताओं को यह नसीहत दी है कि भाजपा की घृणा का जवाब देते समय वे शब्दों व वाक्यों के चयन में पूरी सावधानी बरतें। पार्टी ने कहा है कि भारत का लोकतंत्र और इसके मूल्य इतने मजबूत हैं कि भारत कभी पाकिस्तान बनने की स्थिति में नहीं जा सकता। थरूर के बयान को सिरे से खारिज करते हुए कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली राजग सरकार ने पिछले चार वर्षों में विभाजन, कट्टरता, घृणा, असहिष्णुता और ध्रुवीकरण का माहौल पैदा किया है।

उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ, कांग्रेस बहुलवाद, विविधता, विभिन्न धर्मों व समुदायों के बीच भाईचारा और सद्भाव के सभ्यतागत मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती है। उन्होंने कहा कि भारत के मूल्य और मूल सिद्धांत हमारी सभ्यतागत भूमिका की स्पष्ट गारंटी देते हैं। कांग्रेस के सभी नेताओं को भाजपा की घृणा को खरिज करने के लिए शब्द व वाक्य बोलते समय इस बात का अहसास होना चाहिए कि यह ऐतिहासिक जिम्मेदारी (मूल्यों की रक्षा करने की) हमारे कंधों पर है। इससे पहले कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि भारत का लोकतंत्र इतना मजबूत है कि सरकारें आती जाती रहें, लेकिन यह देश कभी पाकिस्तान नहीं बन सकता। भारत एक बहुभाषी और बहुधर्मी देश है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के हर नेता और कार्यकर्ता से आग्रह करूंगा कि वे इस बात का ध्यान रखें कि किस तरह के बयान देने हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App