ताज़ा खबर
 

शर्मिष्ठा मुखर्जी को मिली दिल्ली महिला कांग्रेस की कमान

वह अब तक प्रदेश कांग्रेस में मुख्य प्रवक्ता की भूमिका निभा रही थीं।

Author नई दिल्ली | January 7, 2018 03:22 am

दिल्ली कांग्रेस फिलहाल अपने पार्टी नेतृत्व में कोई बदलाव नहीं करेगी। अजय माकन दिल्ली कांग्रेस के मुखिया बने रहेंगे जबकि पार्टी ने पूर्व राष्टÑपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी को दिल्ली महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने का फैसला किया है। वह अब तक प्रदेश कांग्रेस में मुख्य प्रवक्ता की भूमिका निभा रही थीं। देश के अन्य राज्यों में भी फिलहाल कोई बदलाव नहीं होगा। कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने शनिवार को जारी एक बयान में कहा कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने सभी प्रदेश अध्यक्षों को अपने-अपने पदों पर बने रहने को कहा है। इसके अलावा क्षेत्रीय कांग्रेस व प्रांतीय कांग्रेस के अध्यक्षों को भी अपने पदों पर तब तक बने रहने को कहा गया है जब तक बदलाव से संबंधित कोई नया आदेश न जारी किया जाए। द्विवेदी ने मुखर्जी को दिल्ली और जैदामी त्रिपुरा को त्रिपुरा महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने की भी घोषणा की। राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने से पहले दिल्ली कांग्रेस ने दो प्रस्ताव पारित कर पार्टी आलाकमान को भेजा था।

इसमें पहला प्रस्ताव यह था कि राहुल को पार्टी का अध्यक्ष बनाया जाए। दूसरे प्रस्ताव में प्रदेश संगठन ने सूबे के अध्यक्ष सहित संगठन के अन्य पदों पर पदाधिकारियों के चयन का अधिकार भी कांग्रेस अध्यक्ष को सौंपा था। इस लिहाज से अब कांग्रेस आलाकमान ने दिल्ली में माकन को दोबारा कमान सौंप दी है जबकि शर्मिष्ठा मुखर्जी को प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता पद से हटाकर महिला कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया है। दिल्ली से बाहर गर्इं शर्मिष्ठा ने अपनी नियुक्ति को लेकर पार्टी का आभार जताते हुए कहा कि यह एक नई चुनौती है और उन्हें अपने आप को पद के योग्य साबित करना है। कांग्रेस की ओर से सभी प्रदेश अध्यक्षों को फिलहाल बनाए रखने के ताजा फरमान से साफ है कि कांग्रेस का अखिल भारतीय अधिवेशन होने से पहले पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी संगठन में किसी बड़े बदलाव के हिमायती नहीं हैं। इसी अधिवेशन में उनके अध्यक्ष बनने पर मुहर लगाई जानी है। इससे पहले कांग्रेस कार्य समिति के सदस्यों का चुनाव भी होना है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App