ताज़ा खबर
 

राजधानी में बढ़ रही है रावण के पुतलों की लंबाई

नरेंद्र भंडारी नई दिल्ली। दिल्ली की ज्यादातर रामलीला समितियां अपने-अपने यहां चार-चार पुतलों का दहन करेंगी। रावण, कुंभकर्ण और मेघनाथ के पुतलों के साथ चौथा पुतला किसका होगा, इस पर आम लोगों से मतदान करवाया जाता है। मतदान के तहत जिसकी संख्या ज्यादा होती है पुतले का नाम उनके हिसाब से ही रखा जाता है। […]

Author October 1, 2014 09:19 am
रावण।

नरेंद्र भंडारी

नई दिल्ली। दिल्ली की ज्यादातर रामलीला समितियां अपने-अपने यहां चार-चार पुतलों का दहन करेंगी। रावण, कुंभकर्ण और मेघनाथ के पुतलों के साथ चौथा पुतला किसका होगा, इस पर आम लोगों से मतदान करवाया जाता है। मतदान के तहत जिसकी संख्या ज्यादा होती है पुतले का नाम उनके हिसाब से ही रखा जाता है। इसी के साथ दिल्ली की अन्य रामलीलाओं में रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों के कद की लंबाई बढ़ती जा रही है। कई लीलाओं में पुतलों को जलाने में अब नई-नई तकनीक का भी इस्तेमाल होने लगा है।

पूर्वी दिल्ली स्थित इंद्रप्रस्थ आइपी एक्सटेंशन स्थित रामलीला में हर साल रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के अलावा चौथा पुतला भी जलाया जाता है। चौथा पुतला सीमा पर आतंक की घुसपैठ, भ्रष्टाचार और सांस्कृतिक प्रदूषण आदि विषयों में किसी एक पर हो सकता है। इसके लिए मंगलवार से मतदान शुरू हो जाएगा। आइपी एक्सटेंशन स्थित रामलीला समिति के प्रमुख सुरेश बिंदल ने बताया कि दशहरे के दिन मतपत्रों की गिनती होगी। जिस विषय को सबसे ज्यादा वोट पड़ेंगे, चौथा पुतला उसी विषय पर आधारित होगा। बिंदल ने बताया कि इस वर्ष भी पुतलों की लंबाई रावण की 65 फीट, कुंभकरण की 60 फीट और मेघनाथ की 55 फीट होगी।

दिल्ली की मशहूर लवकुश रामलीला में इस बार रावण की लंबाई बढ़ाकर 110 फीट कर दी गई है। उसी तरह से कुंभकरण की लंबाई 90 और मेघनाथ की 80 फीट होगी। दशहरे के दिन तीनों पुतलों का आधुनिक तरीके से दहन होगा। यहां की रामलीला के प्रमुख अर्जुन कुमार ने बताया कि जिस समय पुतलों को अग्नि दी जाएगी तो पुतलों से चीखों की आवाज निकलेंगी, पुतलों की आंखें टिमटिमाने लगेंगी। पुतलों से दूध के आंसू गिरेंगे। कुमार ने बताया कि इस बार पुतलों में टेपरिकार्डर रखे जाएंगे। उन रिकार्डरों से तरह तरह की आवाजें निकलेंगी। इस बार यहां रावण के पुतले को मुखाग्नि फिल्म स्टार रितिक रोशन देंगे। अशोक विहार फेज दो स्थित रामलीला में इस साल रावण, कुंभकरण, मेघनाथ की लंबाई क्रम से 70, 65 और 60 फीट रखी गई गई है। यहां की लीला के कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र नागपाल ने बताया कि उनकी लीला में भी पुतलों के दहन में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पुतलों में जैसे ही तीर चलेगा तो पुतलों से हे राम की आवाजें निकलेंगी। पुतलों की आंखें टिमटिमाएंगी और उससे आंसू निकलेंगे।

लालकिला स्थित नवश्री धार्मिक लीला कमेटी की ओर से दशहरे वाले दिन के लिए जलने वाले पुतलों की लंबाई पहले से बढ़ा दी गई है। यहां की लीला के प्रेस सचिव राहुल शर्मा ने बताया कि रावण की लंबाई 120 फीट, कुंभकरण की 110 फीट और मेघनाथ की लंबाई 100 फीट होगी। उन्होंने बताया कि उनकी लीला में पुतलों की लंबाई दिल्ली की अन्य लीलाओं में सबसे ज्यादा होती है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App