ताज़ा खबर
 

84 के कई गुनहगारों को सजा नहीं मिली: राजनाथ

1984 के सिख विरोधी दंगों को ‘जनसंहार’ करार देते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ऐसे अनेक लोगों को अभी तक सजा नहीं मिली है जिनकी इस घटनाक्रम में भूमिका रही थी। शुक्रवार को राजनाथ ने पश्चिम दिल्ली के तिलक विहार इलाके में दंगा पीड़ितों और उनके परिजनों को बढ़े हुए मुआवजे के […]
Author December 27, 2014 09:09 am
भारतवंशियों से हम चाहते हैं मन का रिश्ता: राजनाथ सिंह

1984 के सिख विरोधी दंगों को ‘जनसंहार’ करार देते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ऐसे अनेक लोगों को अभी तक सजा नहीं मिली है जिनकी इस घटनाक्रम में भूमिका रही थी।

शुक्रवार को राजनाथ ने पश्चिम दिल्ली के तिलक विहार इलाके में दंगा पीड़ितों और उनके परिजनों को बढ़े हुए मुआवजे के चेक बांटने के बाद कहा कि इन घटनाओं में (सिख विरोधी दंगों में) अनेक लोगों को अभी तक सजा नहीं मिली। उन्हें अपनी न्यायप्रणाली में विश्वास है और इन लोगों को निश्चित रूप से सजा मिलेगी। दंगों को ‘जनसंहार’ करार देते हुए गृहमंत्री ने कहा, ‘यह दंगा नहीं था, बल्कि जनसंहार था। सैकड़ों बेगुनाह लोग मारे गए। दंगा पीड़ितों के परिजनों का दर्द करोड़ों रुपए देकर भी कम नहीं किया जा सकता।’

उन्होंने कहा कि उन्हें पता है कि जब तक इन लोगों को सजा नहीं मिलती तब तक पीड़ितों को राहत नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा, मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि सरकार पीड़ितों के साथ है और बुरे दिनों में भी उनके साथ रहेगी। केंद्रीय मंत्री ने यहां एक समारोह में दंगा पीड़ितों के 17 परिजनों को पांच लाख रुपए के चेक वितरित किए।
एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के मुताबिक 2,459 लोगों को बढ़ा हुआ मुआवजा सत्यापन के बाद जल्द ही दिया जाएगा। सिंह ने यह भी कहा कि उन्होंने 1984 के दंगा पीड़ितों की शिकायतों पर विचार करने के लिए एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अगुआई में समिति बनाई है। उन्होंने कहा कि वे आश्वस्त करना चाहते हैं कि इस समिति के माध्यम से शिकायतें प्राप्त करने के बाद सरकार इनका समाधान निकालेगी।

केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के तुरंत बाद दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय, राष्ट्रीय मंत्री आरपी सिंह व प्रवक्ता राजीव बब्बर ने एक प्रतिनिधिमंडल के साथ केंद्रीय गृहमंत्री के समक्ष सिखों को अतिरिक्त मुआवजे और न्याय के लिए गुहार लगाई थी।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने इस अवसर पर कहा कि भाजपा दिल्ली में सिखों को 1984 का न्याय दिलाने के लिए हरसंभव ईमानदार प्रयास करेगी। दिल्ली में भाजपा सरकार आने पर हम यह सुनिश्चित करेंगे कि दो वर्ष के भीतर सिखों के सभी मामलों का निपटारा हो। सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने वादे के मुताबिक त्वरित राहत 1984 के पीड़ितों को दी है।

वहीं राजधानी के बरवाला इलाके में किसानों की एक बैठक में राजनाथ ने कहा कि अगर राष्ट्रीय राजधानी में भी भाजपा की सरकार हो तो केंद्र सरकार के साथ बेहतर तालमेल रहेगा। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में भाजपा की लहर है और मुझे विश्वास कि हमारी पार्टी यहां अगली सरकार बनाएगी।’ सिंह ने कहा कि भाजपा ने केंद्र में सरकार बनाई, फिर महाराष्ट्र और हरियाणा में सरकार बनाई और दिल्ली में पार्टी की सरकार अब दूर नहीं। गृह मंत्री ने कहा कि जब तक देश के गांव विकसित नहीं होते, भारत तरक्की नहीं करेगा। इसलिए देश के ग्रामीण क्षेत्रों का विकास अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि संसाधनों की कोई कमी नहीं है। कमी लोगों के कल्याण के लिए काम करने की प्रतिबद्धता की है।

सिंह ने कहा कि किसान बीमा योजना किसानों के कल्याण की एक महत्वाकांक्षी योजना है और साथ ही हाल में शुरू की गई प्रधानमंत्री जनधन योजना का भी उद्देश्य गरीबों व ग्रामीण आबादी को दायरे में लाना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जनधन योजना की शुरुआत होने से पहले तक देश में सिर्फ 40 फीसद लोगों का बैंक में खाता था। अब 90 फीसद लोगों का बैंक में खाता है।

* पीड़ितों के परिजनों को बांटे मुआवजे के चेक
* सत्यापन के बाद 2,459 अन्य लोगों को भी बढ़ा हुआ मुआवजा जल्द

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Juhi Sharma
    Dec 27, 2014 at 12:54 pm
    Click for Gujarati News :� :www.vishwagujarat/gu/
    (0)(0)
    Reply