ताज़ा खबर
 

बीएचयू की छात्राओं के हक में साझा नागरिक प्रदर्शन आज

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की छात्राओं की छेड़छाड़ और मोरल पुलिसिंग के खिलाफ शुरू हुई जंग को उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर जिस तरह से विश्वविद्यालय प्रशासन ने खत्म करने की कोशिश की है, सोमवार को उसके खिलाफ बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा।
Author नई दिल्ली | September 25, 2017 02:15 am
बीएचयू में छेड़खानी के विरोध में प्रदर्शन कर रही छात्राओं पर कल पुलिस ने लाठी चार्ज किया था। (PTI)

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की छात्राओं की छेड़छाड़ और मोरल पुलिसिंग के खिलाफ शुरू हुई जंग को उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर जिस तरह से विश्वविद्यालय प्रशासन ने खत्म करने की कोशिश की है, सोमवार को उसके खिलाफ बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा।  इस प्रदर्शन को ‘संयुक्त नागरिक प्रदर्शन’ नाम दिया गया है। दोपहर 1:00 बजे से शुरू होने वाले इस प्रदर्शन में आइसा, जेएनयू छात्र संघ, केवाईसी, एसएफआइ, पिंजरा तोड़, एआइपीडब्लूए, एआइडीडब्लूए, अखिल भारतीय दलित महिला अधिकार मंच, अनहद, जनवादी लेखक संघ, एआएमएसएस, सीएसडब्लू, मुसलिम वीमेंस फोरम, प्रगतिशील महिला संगठन, राष्ट्रीय दलित महिला आंदोलन व सहेली आदि संगठनों के साथ अभिनेता राहुल रॉय और सबा दिवान भी शामिल होंगे।

एनएसयूआइ ने की निंदा
बीएचयू में छेड़छाड़ के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहीं छात्राओं पर पुलिस की ओर से शनिवार रात किए गए लाठीचार्ज की भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) ने कड़ी निंदा की है। संगठन ने मांग की है कि बीएचयू में सुरक्षा का तुरंत जायजा लिया जाए। विश्वविद्यालय और आसपास के क्षेत्रों में प्रकाश की उचित व्यवस्था की जाए और सुरक्षा के लिए पेट्रोलिंग को बढ़ाया जाए। इसके अलावा विश्वविद्यालय के शिक्षकों और स्टाफ का लिंग संवेदीकरण प्रशिक्षण भी कराया जाए। एनएसयूआइ के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी नीरज मिश्रा के मुताबिक, हम महिलाओं की मोरल पुलिसिंग का पूरी तरह से विरोध करते हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.