ताज़ा खबर
 

केजरीवाल की स्वर्ण मंदिर यात्रा ‘‘राजनीतिक तमाशा’’ : बादल

प्रकाश सिंह बादल ने आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की स्वर्ण मंदिर यात्रा को अपनी तथा पार्टी की ‘‘तेजी से घटती लोकप्रियता के ग्राफ’’ को बचाने के लिए ‘‘राजनीतिक तमाशा’’ करार दिया।

Author रूपनगर | July 9, 2016 8:03 PM
file photo

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की स्वर्ण मंदिर यात्रा को अपनी तथा पार्टी की ‘‘तेजी से घटती लोकप्रियता के ग्राफ’’ को बचाने के लिए ‘‘राजनीतिक तमाशा’’ करार दिया।  उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मंदिर में ‘‘सेवा’’ के लिए यात्रा से दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप उस ‘‘जघन्य पाप’’ के दोष से मुक्त नहीं हो सकते जो उन्होंने पार्टी के युवा घोषणापत्र पर दरबार साहिब के साथ झाडू की तस्वीर प्रकाशित कर की है।

उन्होंने दावा किया कि केजरीवाल और उनकी पार्टी का पूरी तरह ‘‘पर्दाफाश’’ हो गया है क्योंकि उनकी मानसिकता से उनके ‘‘अंतर मन’’ का खुलासा हो गया है कि वह अन्य समुदायों की धार्मिक भावनाओं के प्रति कितना कम सम्मान रखते हैं, चाहे सिख हो या हिंदू या मुस्लिम।  बादल ने हालांकि कहा कि कोई भी व्यक्ति सच्चे श्रद्धालु के रूप में स्वर्ण मंदिर में सेवा कर सकता है जिनके मन में पश्चाताप की भावना हो। लेकिन केजरीवाल और उनके सहयोगी सिर्फ ‘‘राजनीति’’ में शामिल हैं क्योंकि उनकी ‘‘कथनी और करनी में भिन्नता’’ है।

उन्होंने आरोप लगाया कि आप संयोजक की यात्रा अपनी ‘‘छवि और पार्टी की तेजी से घटती लोकप्रियता के ग्राफ को बचाने के लिए राजनीतिक तमाशा’’ से ज्यादा कुछ नहीं है।
उन्होंने कहा कि पार्टी का एकमात्र मकसद अपनी राजनीतिक आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए किसी भी प्रकार पंजाब में सत्ता पर काबिज होना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App