ताज़ा खबर
 

चोटी काटने की घटनाओं की शिकार महिलाओं के लिए पुलिस ने की पहल, शुरू की काउंसलिंग

तीनों महिलाओं की काउंसलिंग के बाद दक्षिण-पश्चिम जिले के पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र कुमार ने कहा कि हम पीड़ित महिलाओं की काउंसलिंग बुधवार को भी करवाएंगे।

Author नई दिल्ली | Published on: August 2, 2017 3:52 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (Source: Express Archives)

दिल्ली के छावला इलाके में भी महिलाओं के बाल काटने के मामले सामने आए हैं। पुलिस ने पीड़ितों की काउंसलिंग शुरू कर दी है। दहशत और रहस्यमय हालत में छावला के कांगनहेड़ी गांव के आप-पास की जिन तीन महिलाओं ने खुद का बाल कटने, सिरदर्द और बेहोशी की शिकायत की है उन तीनों की मंगलवार को तीन घंटे तक इबहास के चिकित्सकों से काउंसलिंग की है। चिकित्सकों का कहना है कि अभी काउंसलिंग में और भी समय लगेगा। उस बीच पुलिस ने छावला थाना में धारा 328, 354, 52 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस कुछ लोगों से पूछताछ कर अन्य बिंदुओं से भी इसे जांच रही है।

तीनों महिलाओं की काउंसलिंग के बाद दक्षिण-पश्चिम जिले के पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र कुमार ने कहा कि हम पीड़ित महिलाओं की काउंसलिंग बुधवार को भी करवाएंगे। इसके बाद ही पता चलेगा कि उनके बाल किस तरह कटे या काटे गए हैं।45 पार के उम्र की घरेलू तीनों महिलाओं ने चूंकि सिरदर्द और बेहोश होने की बातें भी कही हैं लिहाजा पुलिस यह पता लगा रही है कि यह किसी प्रकार का वहम है या फिर कुछ लोगों की साजिश। पुलिस का कहना है कि चोटी काटने के दौरान महिलाओं के सिरदर्द और बेहोशी की शिकायत की है लिहाजा इसे नशीला पदार्थ खिलाकर दहशत फैलाने की कोशिश के रूप में भी देखा जा रहा है। उधर मंगलवार को दिन में पालम के साधनगर में भी एक महिला ने खुद का बाल कटने की शिकायत दर्ज कराई है। पीड़ित महिला अपने पोते को स्कूल से लेकर घर आई और सोफे पर बैठकर पानी पी रही थी।महिला का कहना है कि रेवाड़ी में रह रही उनकी बहन ने उन्हें फोन कर इस प्रकार की सूचना दे रही थी। तभी उन्होंने खुद का बाल पीछे से कटा पाया। बालों में हाथ मारते ही बालों का गुच्छा हाथ में आ गया। हालांकि इस बीच गांव के घरों के मुख्य दरवाजों पर टोटका मानकर नींबू, मिर्च, प्याज और नीम के पत्ते भी लगाना शुरू कर दिया है।

अफवाह से दहशत में गुरुग्राम के लोग

चोटी कटने की शिकायतें गांवों से होती हुई अब गुरुग्राम की शहरी कॉलोनियों में भी पहुंचने लगी हैं। रविवार को देवीलाल कॉलोनी, शीतला कॉलोनी एवं सूरत नगर इलाके में कई महिलाओं ने कहा कि उनकी चोटी रात में कट गई। बताया जा रहा है कि इससे इलाके में दहशत फैल गई है। शीतला कॉलोनी निवासी रानी एवं सोनिया की चोटी कटने की बात सामने आई है।दोनों की चोटी रात में सोते वक्त कटी। हालांकि, इलाके के अधिकतर लोग इसे अंधविश्वास बता रहे हैं। इस इलाके के राजन मेहता कहते हैं कि इलाके में प्रतिदिन अफवाह उड़ाई जाती है उन्होंने कहा कि जब कमरे का दरवाजा बंद होता है तो फिर किसने चोटी काटी? मनोचिकित्सक डा. ब्रह्मदीप सिंधू का भी मानना है कि चोटी कटने की बात पूरी तरह अफवाह है। इस बात पर लोगों को अधिक ध्यान नहीं देना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली सरकार ने की डीयू के 28 कॉलेजों के आॅडिट की मांग, भ्रष्टाचार की मिली हैं शिकायतें
2 लोगों की निजी जानकारी गोपनीय रखने पर सरकार की दलील से सुप्रीम कोर्ट सहमत नहीं
3 सांसदों द्वारा खुद का वेतन बढ़ाने के खिलाफ वरुण गांधी, बोले – 18,000 किसान मारे गए, हमारा ध्यान कहां है?