ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी ने गल्‍फ न्‍यूज को दिया इंटरव्‍यू, दिए मजेदार सवालों के जवाब

पीएम मोदी ने कहा-मैं तकनीक की ताकत में जबर्दस्त विश्वास रखने वाला व्यक्ति हूं, क्योंकि यह लोगों को ताकत देता है। तकनीक युवा भारत से जुड़ने का बेजोड़ तरीका है, इससे उनकी उम्मीदें और अपेक्षाएं भी पता चलती हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो-पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार (9 फरवरी) से पश्चिम एशिया के दौरे पर हैं। पीएम फिलीस्तीन, संयुक्त अरब अमीरात और ओमान के नेताओं से मुलाकात करेंगे। पीएम मोदी ने इस दौरे से पहले खाड़ी के मशहूर अखबार गल्फ न्यूज को एक साक्षात्कार दिया है। इस इंटरव्यू में पीएम ने कई मजेदार सवालों के जवाब दिये हैं। गल्फ न्यूज के मुताबिक ईमेल के जरिये हुए इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने खुलकर बात की। पीएम ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात में मौजूद भारतीयों ने दोनों देशों के बीच पुल का काम किया। पीएम ने कहा कि उनका यह दौरा दोनों देशों के बीच रिश्तों को और भी मजबूत करेगा। इंटरव्यू के कुछ रोचक अंश इस प्रकार हैं।

सवाल: क्या आप छुट्टियों का आनंद उठा पाते हैं?
जवाब: मैं कभी छुट्टियों पर नहीं रहा, चाहे वह बतौर सीएम हो या अब प्रधानमंत्री के तौर पर। लेकिन मेरे काम के जरूरत है कि मुझे भारत भर में जाना पड़ता है, लोगों से बातें करनी पड़ती है, उनकी खुशियों, दुख और उम्मीदों के बारे में जानना पड़ता है। जब मैं 2001 में गुजरात का मुख्यमंत्री बना उससे पहले भारत के हर जिले में गया, इससे मुझे भारत की सांस्कृतिक विविधता की जानकारी मिली।

सवाल: क्या आपका अपना कोई विशेष खानसामा है, जो आपके साथ भारत के बाहर दौरों पर मौजूद रहता है?
जवाब: नहीं कोई नहीं है। ऐसा कोई शख्स नहीं है जो मेरे साथ विदेशी दौरे पर जाता है, मेरे सम्मानीय मेजबान मुझे जो कुछ भी खाने को देते हैं मैं उसी का आनंद उठाता हूं।

सवाल: सप्ताह का कौन सा दिन आपका फेवरिट है और क्यों?
जवाब: आज का दिन सप्ताह का मेरा फेवरिट दिन है। मैं एक सामान्य सिद्धांत में यकीन रखता हूं,- जो आज आपके पास वक्त है उसका पूरा इस्तेमाल करें, आज का वक्त ही आपके हाथ में मौजूद कठिन परिश्रम करने का वक्त है और चीजों को कर पाने का मौका है।

सवाल: आप अपने निजी कम्यूनिकेशन में कितने टेक सैवी हैं?
जवाब: मैं तकनीक की ताकत में जबर्दस्त विश्वास रखने वाला व्यक्ति हूं, क्योंकि यह लोगों को ताकत देता है। तकनीक युवा भारत से जुड़ने का बेजोड़ तरीका है, इससे उनकी उम्मीदें और अपेक्षाएं भी पता चलती हैं। मैं निजी रूप से फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंकडइन पर सक्रिय हूं और इन्हें काफी गतिशील पाता हूं। मैं अपने मोबाइल एप नरेंद्र मोदी मोबाइल एप पर काफी सक्रिय रहता हूं और वहां आने वाले संदेश को देखता रहता हूं। इस एप पर कई विषयों पर सकारात्मक फीडबैक, सुझाव और विचार मिलते हैं, मैं इसे काफी व्यावहारिक पाता हूं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App