ताज़ा खबर
 

Paytm भी रुक-रुक कर हो रहा डाउन, लोग हो रहे परेशान

नोटबंदी से बढ़ती लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने पेटीएम का सहारा लिया है। करीब एक माह तक इस सर्विस के जरिए लाखों लोगों ने इस सुविधा का फायदा उठा या हो लेकिन अब हर किसी के लिए सिरदर्द बन गया है।

Author नई दिल्ली | December 15, 2016 23:33 pm
Paytm भी रुक-रुक कर हो रहा डाउन, लोग हो रहे परेशान।

नोटबंदी से बढ़ती लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने पेटीएम का सहारा लिया है। करीब एक माह तक इस सर्विस के जरिए लाखों लोगों ने इस सुविधा का फायदा उठा या हो लेकिन अब न इस एप से न सिर्फ जनता परेशान है बल्कि दुकानदारों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नोटबंदी के बाद पेटीएम के ई-वॉलेट का विकल्प दिया गया, जिसके वॉलेट में 10 हजार से 20 हजार की आप रख सकते हैं। सरकार द्वारा नोटबंदी के बाद भले ही पेटीएम को काफी दिनों तक इजाफा हुआ हो लेकिन अब इससे लोगों की परेशानी कम नहीं बल्कि बढ़ गई हैं। हर रोज पेटीएम से न जाने कितने ही यूजर्स जुड़ रहे हैं, जिसमें दुकानदार भी शामिल हैं। अब इस एप में कभी पल्बिक के तो कभी विक्रेताओं के पैसे फंस रहे हैं। क्योंकि जिस दुकान के बाहर लिखा होता है पेटीएम एसेप्पटिड हेयर उस जगह भीड़ लगती है लिहाजा इसके बाद सप्लायर पेटीएम से भुगतान करना चाहता है लेकिन अब ये पेमेंट करने से मना कर देता है। क्योंकि कई बार इंटरनेट की वजह से एप चलाने में काफी परेशानी आ रही है।

इस एप के जरिए जैसे ही लोगों की दिक्कतें बढ़ीं तो उन्होंने ट्विटर का सहारा लिया और पेटीएम से हो रहीं परेशानियों का इजहार करना शुरू कर दिया। अब दिल्ली से लेकर नोएडा के दुकानदार काफी परेशान हो रहे हैं। क्योंकि नोटबंदी के बाद एक जनरल स्टोर पर मालिक ने भी इस बारे में बताया कि पेटीएम वे कई ग्राहकों का पैसा नहीं ले पाते और कई बार उन्हें उधारी करनी पड़ती है। क्योंकि कभी-कभी पेटीएम का सर्वर डाउन हो जाता है। इंटरनेट की स्पीड धीमी होने की वजह से ऐसे लोगों को भुगतान लेने में काफी समस्या आ रही है। हालांकि अब पेटीएम जल्द ही दिक्कतें दूर करने का दावा कर रहा है। पेटीएम ने अपनी ऑफीसियल वेबसाइट के ट्विटर पेज पर कहा है कि वे जल्द ही अपने सिस्टम को अपडेट करेंगे, लेकिन फिलहाल इससे परेशानी बढ़ने लगी है। पेटीएम ने ट्विटर पर एक और पोस्ट कर अपने यूजर्स को धैर्य बनाए रखने के लिए धन्यवाद भी कहा।

 

ऐसे लोग अब सरकार को भी कोसने से बाज नहीं आ रहे हैं। क्योंकि कैश नहीं होने के कारण जहां हजारों लोग अपना धंधा छोड़कर सुबह और शाम को बैंक और एटीएम की लाइन में लगते हैं कि कुछ राशि निकल जाएगी तो उनका काम चल जाएगा। वहीं कुछ जरूरतों को वे पेटीएम से पूरा करना बेहतर समझते हैं लेकिन जब उन्होंने इस एप का इस्तेमाल करना शूरू किया तो सप्लायर से लेकर डिस्ट्रीब्यूटर, रिटेलर और ग्राहक को सर्वर डाउन से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App