ताज़ा खबर
 

सुबह-सुबह ठंड में प्रदर्शन से बिगड़ी तृणमूल सांसद की तबीयत, नारे लगाए तब आया जोश

एक अन्य सांसद को यह कहते हुए सुना गया कि ठंड में प्रदर्शन की वजह से वह खुद को बीमार महसूस कर रही हैं। हालांकि सांसद ने कहा कि 'जब नारेबाजी शुरू हुई, मुझे पहले ठीक महूसस हुआ।'

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

संसद भवन परिसर में सोमवार (17 दिसंबर, 2018) को सुबह-सुबह ठंड में प्रदर्शन की वजह से टीएमसी सासंद की तबियत बिगड़ गई। मगर बाद में नारेबाजी की गई तो सांसद का तबियत में कुछ सुधार हुआ। दरअसल सुबह साढ़े दस बजे जब टीएमसी सांसद संसद भवन परिसर में प्रदर्शन कर रहे थे तब खूब ठंड थी। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक इस दौरान एक सांसद को अपने सहयोगी से यह कहते हुए सुना गया कि क्या प्रर्दशन दोपहर में किया जा सकता है। चूंकि तब दिन थोड़ा गर्म हो जाएगा। एक अन्य सांसद को यह कहते हुए सुना गया कि ठंड में प्रदर्शन की वजह से वह खुद को बीमार महसूस कर रही हैं। हालांकि सांसद ने कहा कि ‘जब नारेबाजी शुरू हुई, मुझे पहले से ठीक महूसस हुआ।’ पार्टी ने कृषि संकट पर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था।

बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने के बाद लोकसभा में सोमवार (17 दिसंबर, 2018) को लगातार चौथे कामकाजी दिन प्रश्नकाल और शून्यकाल में कामकाज बाधित रहा। राफेल मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग और सिख विरोधी दंगा मुद्दे पर भाजपा सदस्यों की खूब नारेबाजी की। कांग्रेस सदस्यों ने भी जेपीसी की मांग के अलावा मुद्दों पर विरोध किया।

इसके अलावा दूसरे दलों के हंगामे की वजह से सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद 2 बजे तक के स्थगित रही। गौरतलब है कि लोकसभा की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दोपहर 12 बजे शुरू होने पर स्थिति पहले जैसी ही बनी रही। इस बार अन्नाद्रमुक सदस्य कावेरी नदी पर बांध का निर्माण रोकने की मांग करते हुए लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास पहुंच गए।

इसके बाद टीडीपी सांसद पर आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाले की मांग करते हुए आसन तक पहुंच गए। कांग्रेस सदस्य भी राफेल मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति से कारने की मांग करते हुए अध्यक्ष आसन के पास पहुंच गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App