ताज़ा खबर
 

गाली-गलौज करने वाले वयस्क बच्चों को घर से निकाल सकते हैं मां-बाप : हाईकोर्ट

दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि अगर वयस्क बच्चे अपने मां-बाप के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं तो उनको घर से निकाला जा सकता है।

Author नई दिल्ली | March 20, 2017 1:25 AM
कोर्ट ने कहा कि पब्लिक सर्वेंट खुद को मिलने वाले तोहफों को कानून आय में नहीं गिना सकते।

दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि अगर वयस्क बच्चे अपने मां-बाप के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं तो उनको घर से निकाला जा सकता है। न्यायमूर्ति मनमोहन ने अपने आदेश में स्पष्ट किया कि संतान को घर से निकालने के मामले में यह जरूरी नहीं है कि घर उन्होंने खुद बनाया हो अथवा उसके मालिक मां-बाप हों। अदालत ने कहा, ‘जब तक मां-बाप के पास संपत्ति पर कानूनी अधिकार है, तो वे गाली-गलौज करने वाले अपने वयस्क बच्चों को घर से बाहर निकाल सकते हैं। यहां तक कि अदालतों ने बार-बार यह कहा है कि वरिष्ठ नागरिकों अथवा मां-बाप को शांतिपूर्ण ढंग से और सम्मान के साथ रहने का अधिकार है।’

साल 2007 के एक कानून में इस बात का प्रावधान है। इसके तहत राज्य सरकार पर यह छोड़ दिया गया कि वे वरिष्ठ नागरिकों के जान-माल की रक्षा के लिए नियम बनाएं। अदालत का यह आदेश नशे के आदी एक पूर्व पुलिसकर्मी और उसके भाई की ओर से दायर अपील पर आया है। इन दोनों ने रखरखाव न्यायाधिकरण के अक्तूबर, 2015 के आदेश को चुनौती दी थी जिसमें उन्हें उनके माता-पिता के मकान से बाहर निकलने के लिए कहा गया था।

Next Stories
1 जाट आंदोलन स्थगित: मेट्रो सेवा रहेगी सामान्य पर 4 स्टेशनों से नहीं निकल पाएंगे बाहर
2 दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश- गाली-गलौज करने वाले वयस्क बच्चों को घर से निकाल सकते हैं मां-बाप
3 ट्रेन में 14 साल पहले गायब हुए थे कीमती सामान और गहने, अदालत ने कहा- लापरवाही के लिए रेलवे को देना होगा 1.34 लाख मुआवजा
ये पढ़ा क्या?
X