ताज़ा खबर
 

भारत और पाक ने एक-दूसरे के उच्चायोग के अधिकारी को देश छोड़ने को कहा

संबंधों में बढ़ते तनाव के बीच भारत और पाकिस्तान ने नयी दिल्ली और इस्लामाबाद स्थित अपने-अपने उच्चायोग से एक-दूसरे के एक-एक कर्मचारी को अवांछित व्यक्ति घोषित करके उनसे 48 घंटे के भीतर देश छोड़ने को कहा।
Author नयी दिल्ली/ इस्लामाबाद | October 28, 2016 07:08 am

संबंधों में बढ़ते तनाव के बीच भारत और पाकिस्तान ने नयी दिल्ली और इस्लामाबाद स्थित अपने-अपने उच्चायोग से एक-दूसरे के एक-एक कर्मचारी को अवांछित व्यक्ति घोषित करके उनसे 48 घंटे के भीतर देश छोड़ने को कहा। यह कदम भारतीय पुलिस के आईएसआई द्वारा संचालित जासूसी गिरोह का भंडाफोड़ करने के बाद उठाया गया, जिसमें पाकिस्तानी उच्चायोग का एक कर्मचारी शामिल था। भारत स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग में वीजा सेक्शन में काम करने वाले महमूद अख्तर को कूटनीतिक छूट हासिल थी। वह अपने दो साथियों से भारत-पाक सीमा पर तैनात बीएसएफ कर्मियों की तैनाती समेत गंभीर विवरण हासिल कर रहा था। उन्हें दिल्ली में गिरफ्तार किया गया। जासूसी गिरोह का सरगना 35 वर्षीय अख्तर पाकिस्तानी सेना के बलूच रेजीमेंट से जुड़ा है और वह 2013 से जासूसी एजेंसी आईएसआई में प्रतिनियुक्ति पर था। जांच अधिकारियों ने कहा कि वे पाकिस्तानी उच्चायोग के और लोगों की संभावित संलिप्तता की भी जांच कर रहे हैं।

अख्तर और दो अन्य सुभाष जांगीड़ और मौलाना रमजान को दिल्ली चिड़ियाघर से कल सुबह 10 बजे के करीब पकड़ा गया। अख्तर को तकरीबन तीन घंटे की पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया क्योंकि उसे कूटनीतिक छूट हासिल थी। चौथे व्यक्ति शोएब को राजस्थान पुलिस ने आज शाम हिरासत में लिया और उसे दिल्ली लाया जा रहा है। शोएब जोधपुर में रहने वाला एक पासपोर्ट और वीजा एजेंट है।भारत ने अख्तर से 48 घंटे के भीतर देश छोड़ने को कहा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया, ‘‘विदेश सचिव एस जयशंकर ने आज पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया तथा उन्हें सूचित किया कि भारत ने पाकिस्तान उच्चायोग के एक कर्मी को जासूसी की गतिविधियों में पकड़Þा है तथा उसे अवांछित व्यक्ति घोषित किया जा रहा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Amit
    Oct 28, 2016 at 5:00 am
    That shows India is leader and stan is follower... what India is doing that stan do copy and deliver..
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      Adi
      Oct 28, 2016 at 8:16 am
      When will your Govt. will take responsibility of its own because anything tragic happens in India, Govt easily find scapegoat by saying ISI is involved within minutes. I am afraid what will they say after post event when all stani are sent back !
      (0)(0)
      Reply
      1. A
        Akash
        Oct 28, 2016 at 5:12 am
        There would be war between stan and India one day there is no doubt about it..
        (0)(0)
        Reply
        1. R
          Rakesh Balyan
          Oct 28, 2016 at 7:13 am
          पूरी दुनिया जानती है की पाक आतंक की फैक्ट्री है/ फिर भारत में पाक का उच्चायोग रखना क्यों ? और पाक में भारत का? बंद करो / इसकी जरुरत क्या है ? अंतरास्ट्रीय स्तर पर दिखावा क्यों ? क्या उच्चायोग बंद होने से अंतराष्ट्रीय समुदाय भारत के खिलाफ हो जायेगा ? भारत में बैठे पाकी दल्ले ही उसकी कमी पूरी कर देंगे तो फिर इसकी जरुरत क्या है? जासूसी हमारी संप्रभुता के लिए कितना खतरनाक हो सकती है सब जानते हैं/ इसका जीत जागता सबूत बॉर्डर पर रोज़ाना हो रही फायरिंग से पता चलता है/ जय हिन्द !!!
          (0)(0)
          Reply
          1. G
            Ganesh
            Oct 28, 2016 at 8:19 am
            Why is he deported when he is caught with sensitive doents? He should be booked and sent to jail in India itself.
            (0)(0)
            Reply
            1. Load More Comments