ताज़ा खबर
 

कुपवाड़ा में सेना का कमांडो शहीद, एक जख्मी

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में जंगल में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षा बलों ने बड़ा अभियान शुरू किया है। सेना की 47 राष्ट्रीय राइफल्स, तीन और चार पैरा फोर्सेज के कमांडो, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान में कुपवाड़ा के साधु गंगा इलाके के कांडी जंगलों की घेरेबंदी की गई है।

Author नई दिल्ली, 11 जुलाई। | July 12, 2018 6:50 AM
रक्षा मंत्रालय के अनुसार, सेना की 47 राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों को बुधवार दोपहर कुपवाड़ा के कांडी जंगल इलाके में आतंकियों की सक्रियता की जानकारी मिली थी।

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में जंगल में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षा बलों ने बड़ा अभियान शुरू किया है। सेना की 47 राष्ट्रीय राइफल्स, तीन और चार पैरा फोर्सेज के कमांडो, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान में कुपवाड़ा के साधु गंगा इलाके के कांडी जंगलों की घेरेबंदी की गई है। जंगलों में चार-पांच आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिलने के बाद तलाशी अभियान शुरू किया गया। मुठभेड़ में तीन पैरा स्पेशल फोर्सेज का एक कमांडो शहीद हो गया है। स्पेशल फोर्सेज का ही दूसरा जवान घायल हो गया है। अभी तक आतंकियों में से किसी के मारे जाने की पुष्टि नहीं हुई है। मुठभेड़ देर शाम तक जारी रही।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, सेना की 47 राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों को बुधवार दोपहर कुपवाड़ा के कांडी जंगल इलाके में आतंकियों की सक्रियता की जानकारी मिली थी। इस सूचना पर जंगल की घेराबंदी करते हुए पैरा फोर्सेज और सेना के जवानों ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसओजी कमांडो दस्ते के साथ मिलकर तलाशी अभियान शुरू किया। इस कार्रवाई के दौरान ही आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर भारी गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई के दौरान स्पेशल फोर्सेज के कमांडो आतंकियों के ठिकाने में घुस गए। इस दौरान तीन पैरा स्पेशल फोर्सेज के कमांडो मुकुल मीणा और उनके सहयोगी को गोलियां लगीं।

इसके बाद सेना की चार पैरा फोर्सेज की टीम को भी इलाके में तैनात कराया गया। और घायल दोनों जवानों को तत्काल दुर्गमूला के सैन्य अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल किया गया, जहां चिकित्सकों ने मीणा को मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि जंगलों में आतंकियों की भारी गोलाबारी को देखते हुए अब चार पैरा फोर्सेज के जवानों के साथ एसओजी और सेना की कुछ और टीमों को तैनात किया गया है। हालांकि, अब तक इस मुठभेड़ में किसी आतंकी के ढेर होने की सूचना नहीं मिली है।

शोपियां में मंगलवार को मुठभेड़ के दौरान 10 पैरा स्पेशल फोर्सेज के कमांडो ने कमाल किया था। कमांडो नायब सूबेदार राजपाल धायल ने आतंकियों का ठिकाना बने मकान में घुसकर गोलियों की बौछार के बीच दो को मार गिराया। इस दौरान एक गोली जवान के सिर पर लगे हेलमेट में फंस गई। दूसरी गोली सीने के पास बुलेट प्रूफ जैकेट में ही फंसी रह गई। अन्य एक गोली बांह में लगी। भारतीय सेना की स्पेशल कमांडो फोर्स 10 पैरा का मुख्यालय जोधपुर में है। 10 पैरा की एक टुकड़ी इन दिनों जम्मू-कश्मीर में तैनात है।
उधर शोपियां में ग्रेनेड से खेलते वक्त एक बच्चे की ब्लास्ट से मौत हो गई। चार अन्य बच्चे घायल हुए हैं। इस इलाके में एक दिन पहले मुठभेड़ हुई थी। इसमें सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया था। मौके पर ग्रेनेड बचा रह गया था। बच्चों ने घटनास्थल से यह ग्रेनेड उठा लिया था।

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक, ग्रेनेड विस्फोट में मारे गए बच्चे का नाम सलिक खुर्शीद (11) है। घायल अवस्था में उसे अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। चार अन्य घायलों को शोपियां के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ये सभी बच्चे आपस में भाई हैं। घटना शोपियां के मेमनदर गांव की है। यह दक्षिण कश्मीर का सबसे ज्यादा आतंकवाद से ग्रस्त इलाका है। मंगलवार को इसी इलाके में मुठभेड़ के दौरान पत्थरबाजों और सुरक्षा बलों के बीच झड़पें हुईं, जिसमें एक नागरिक की मौत हो गई थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App