ताज़ा खबर
 

ओला-उबर चालक आज कर सकते हैं हड़ताल

दिल्ली सरकार की ओर से मामले में दखल न दिए जाने से नाराज ओला और उबर के ड्राइवर सरकार के खिलाफ एक विरोध मार्च भी निकालेंगे।

Author नई दिल्ली | April 18, 2017 2:08 AM
Bombay high court, scolded, ola, uber taxi, services, foreign passengers, licence, foreign citizensओला कैब सर्विस। (Photo: Reuters)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उससे सटे क्षेत्रों में मंगलवार को लोगों को टैक्सी मिलने में परेशानी हो सकती है क्योंकि ऐप आधारित कैब संचालकों ने कम किराए के खिलाफ एक दिन की हड़ताल की धमकी दी है। दिल्ली सरकार की ओर से मामले में दखल न दिए जाने से नाराज ओला और उबर के ड्राइवर सरकार के खिलाफ एक विरोध मार्च भी निकालेंगे। ओला और उबर के ड्राइवरों के हड़ताल पर जाने से दिल्ली और उससे सटे शहरों में निजी परिवहन सेवा पर असर पड़ सकता है क्योंकि टूरिस्ट टैक्सी प्रदाताओं, आॅटोरिक्शा यूनियन और सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन ने उन्हें अपना समर्थन दिया है। दिल्ली-एनसीआर में ऐप आधारित करीब 1.25 लाख टैक्सियों का प्रतिनिधित्व करने का दावा करने वाले एसोसिएशन की मांग है कि वर्तमान किराया दर छह रुपए प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर 20 रुपए प्रति किलोमीटर की जाए। साथ ही वे 25 फीसद कमीशन को भी खत्म करने की मांग कर रहे हैं जो कंपनियां ड्राइवरों से वसूलती हैं। एसोसिएशन के उपाध्यक्ष रवि राठौर ने कहा कि ड्राइवर दिल्ली सरकार के खिलाफ विरोध मार्च निकालेंगे।

राठौर के मुताबिक, उत्तरी दिल्ली में मजनू का टीला से लेकर सिविल लाइंस इलाके में स्थित मुख्यमंत्री आवास तक विरोध मार्च निकाला जाएगा। ड्राइवरों में नाराजगी है कि सरकार ओला और उबर से जुड़े मुद्दों में हस्तक्षेप नहीं कर रही है। ओला और उबर के ड्राइवरों की हड़ताल का दूसरा दौर है। वे फरवरी में भी हड़ताल पर चले गए थे जो 13 दिनों तक चली थी और उससे दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव व फरीदाबाद में यात्रियों को बड़ी असुविधा हुई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: नवविवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत, घरवालों ने दहेज के लिए हत्या का लगाया आरोप
2 ओला, उबर के ड्राइवरों ने दी हड़ताल पर जाने की धमकी
3 थैलेसेमिया पीड़ित बच्चों को सरकार की इस परियोजना से मिलेगा लाभ
यह पढ़ा क्या?
X