ताज़ा खबर
 

जेएनयू की प्रवेश परीक्षा की तारीखों में बदलाव, मई-जून के बजाय दिसंबर में होंगे एंट्रेंस टेस्ट

शिक्षकों की जगह खाली होने के बारे में जानकारी देना यह विश्वविद्यालय के सभी सेंटर का दायित्व है।

Author नई दिल्ली | May 23, 2017 6:48 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) ने 2018 में दाखिला लेने के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा की तारीख आगे बढ़ा दी है। जेएनयू के लिए प्रवेश परीक्षा पहले मई और जून में होती थी लेकिन अब यह परीक्षा दिसंबर मे होगी। कई दिनों से जेएनयू के उच्च अधिकारी इस मामले पर विचार कर रहे थे कि प्रवेश परीक्षा साल के शुरु होने से पहले ही ली जाए। पीटीआई के अनुसार स्थायी समिती की बैठक में जेएनयू के शैक्षिक परिषद ने इस फैसले को मंजूरी दी। परिषद की मंजूरी के बाद जेएनयू के सभी कोर्स के लिए होने वाली प्रवेश परिक्षा के लिए छात्रों को अब दिसंबर तक का इंतजार करना होगा। यह छात्रों के लिए अच्छा मौका है कि अब उन्हें परीक्षा की तैयारी के लिए काफी समय मिल गया है।

इस पर बात करते हुए जेएनयू के उपकुलपति जगदीश कुमार ने कहा कि दिसंबर में होने वाली परीक्षा ठीक से हो जाए, इसके लिए एक समिती का गठन किया गया है। कुमार ने कहा कि इस नए नियम को लागू करने की बहुत पहले से मांग की जा रही थी, जिसपर काफी विचार विमर्श करने के बाद यह फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि एम.फिल और पीएचडी कोर्स में फैकल्टी की कमी है, इसलिए हम कोशिश कर रहे हैं कि दिसंबर तक इन कोर्स के लिए फैक्लटी की भर्ती कर ली जाए। अगर फैकल्टी होगी तो नए बच्चों की पढ़ाई में देरी नहीं होगी।

जगदीश कुमार ने कहा कि हमने विश्वविद्यालय के सभी सेंटर को सूचित कर दिया है कि शिक्षकों की कमी के बारे में हमें बताएं ताकि सूचीपत्र में इसकी जानकारी को डाला जा सके। शिक्षकों की जगह खाली होने के बारे में जानकारी देना यह विश्वविद्यालय के सभी सेंटर का दायित्व है। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा एक पत्र के जरिए सभी सेंटरों को सूचित किया गया है। कुमार ने कहा कि दिसंबर तक सभी कोर्स में जरुरत के अनुसार शिक्षकों की भर्तियां कर ली जाएंगी।

देखिए वीडियो - लापता चल रहे जेएनयू छात्र नजीब अहमद का नहीं मिला कोई सुराग, दिल्‍ली पुलिस ने मां और रिश्‍तेदारों को हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App