ताज़ा खबर
 

नेशनल हेराल्ड मामले पर बोली कांग्रेस – सरकारी एजेंट फैला रहे झूठ, हमें इससे जुड़े होने पर गर्व है

दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा इनकम टैक्स विभाग को नेशनल हेराल्ड मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं

कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी। (FILE PHOTO)

दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा इनकम टैक्स विभाग को नेशनल हेराल्ड मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इसपर कांग्रेस पार्टी ने कहा कि उनको नेशनल हेराल्ड से जुड़े होने पर गर्व है। कांग्रेस की तरफ से यह भी दावा किया गया कि मीडिया इस मामले को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रही है। कांग्रेस नेता अभिषेक संघवी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा, ‘हम लोगों को नेशनल हेराल्ड से जुड़े होने पर गर्व है। मीडिया गलत तरीकों से तथ्यों को रख रही है।’ संघवी ने आगे कहा कि सरकार के एजेंट इस मामले पर मीडिया के सामने झूठे तथ्य पेश कर रहे हैं। संघवी ने यह भी कहा कि केस को फिर से शुरू ना करने की बात कहने का उनको पूरा अधिकार है।

इससे पहले शुक्रवार को नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को झटका लगा। दिल्ली हाई कोर्ट ने यंग इंडिया कंपनी की जांच इनकम टैक्स द्वारा कराए जाने को हरी झंडी दी। हाईकोर्ट ने यह भी कहा कि कंपनी को अपने दस्तावेज इनकम टैक्स को सौंपने ही होंगे।

यंग इंडिया कंपनी में सोनिया और राहुल गांधी की 76 फीसदी हिस्सेदारी है। मामले में हस्तक्षेप करने से इंकार करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को जांच करने का अधिकार है। इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने जांच के आदेश दिए थे। जिसके बाद सोनिया और राहुल गांधी की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट में इनकम टैक्स जांच पर रोक लगाने की मांग की गई थी।
यह है मामला
बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाय था कि गांधी परिवार हेराल्ड की प्रॉपर्टीज का गलत तरीके से इस्तेमाल कर रहा है। वे इस आरोप को लेकर 2012 में कोर्ट गए। लंबी सुनवाई के बाद 26 जून 2014 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा मोतीलाल वोरा, सुमन दूबे और सैम पित्रोदा को समन जारी कर पेश होने के आदेश जारी किए थे, तब से यह मामला कोर्ट में चल रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App