ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री का पता : लोक कल्याण मार्ग

केजरीवाल ने कहा कि इस बारे में प्रधानमंत्री से विचार-विमर्श करना चाहिए और उन्हें ही फैसला लेने देना चाहिए।
Author नई दिल्ली | September 22, 2016 02:15 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

दिल्ली में केंद्रीय सत्ता से जुड़े सबसे अहम मार्ग रेसकोर्स रोड का नाम अब लोक कल्याण मार्ग होगा। इसी मार्ग पर प्रधानमंत्री का आवास स्थित है। इस रोड का नाम बदलने को लेकर मंगलवार से ही भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच राजनीति चल रही थी। भाजपा की सांसद मीनाक्षी लेखी ने पहले इस रोड का नाम एकात्म मार्ग रखने का प्रस्ताव किया था, जिसका आम आदमी पार्टी ने विरोध किया था। आम आदमी पार्टी के विधायक और एनडीएमसी की परिषद के सदस्य सुरेंद्र कुमार इस रोड का नाम सेना के किसी शहीद के नाम पर रखना चाहते थे।

एनडीएमसी परिषद की विशेष बैठक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद की उच्चस्तरीय बैठक में यह फैसला किया गया। सड़क के फिर से नाम रखने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए जल्द ही अधिसूचना जारी की जाएगी। एनडीएमसी ने गुरुद्वारा रकाबगंज गोलचक्कर का नाम बदलने का भी फैसला किया। विभिन्न सिख संगठनों की ओर से दिए गए ज्ञापन के आधार पर इस गोल चक्कर का नाम गुरु गोविंद सिंह चौक रखा जाएगा। भाजपा सांसद और एनडीएमसी परिषद की सदस्य मीनाक्षी लेखी ने रेसकोर्स रोड का नाम बदलकर एकात्म मार्ग रखने का प्रस्ताव दिया था जो पार्टी के विचारक दीनदयाल उपाध्याय की विचारधारा से जुड़ा है। किंतु बैठक में इसे स्वीकार नहीं किया गया। बैठक में केजरीवाल ने रेसकोर्स रोड का नाम गुरु गोविंद सिंह पर रखने का प्रस्ताव किया, किंतु कुछ लोग इससे संतुष्ट नहीं हुए। लेखी ने कहा कि इसका नाम एकात्म मार्ग होना चाहिए।

इस मामले को आगे टालने के मकसद से केजरीवाल ने कहा कि इस बारे में प्रधानमंत्री से विचार-विमर्श करना चाहिए और उन्हें ही फैसला लेने देना चाहिए। लेकिन बैठक में भाजपा से जुड़े परिषद सदस्यों ने उसका विरोध किया। बैठक में लेखी ने फिर से एक दूसरा प्रस्ताव बैठक में रखा और इस रोड का नाम लोक कल्याण मार्ग का नाम प्रस्तावित किया। इसका उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर ने अनुमोदन किया। बाद में इस नाम को लेकर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहले तो इस प्रस्ताव को पारित करने का विरोध किया, लेकिन जब सारे सदस्यों को एक ही स्वर में लोक कल्याण मार्ग की स्वीकृति मिलने लगी तो उन्होंने भी अपनी मंजूरी दे दी।  एनडीएमसी के अध्यक्ष नरेश कुमार ने कहा कि सड़क का नाम बदल कर लोक कल्याण करने का निर्णय सर्वसम्मति से किया गया। अधिसूचना जारी होने के बाद प्रधानमंत्री के प्रसिद्ध आवास का पता 7 रेसकोर्स की जगह 7 लोक कल्याण मार्ग हो जाएगा। पिछले साल औरंगजेब रोड का नाम बदलकर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर रखा गया था। हालांकि कई इतिहासकारों ने उस निर्णय की आलोचना की थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.