ताज़ा खबर
 

बर्दाश्त नहीं होगी काम में लापरवाही: उपराज्यपाल

उपराज्यपाल नजीब जंग ने महिलाओं एवं पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों की सुरक्षा पर जोर दिया और कहा कि कामकाज में किसी भी तरह की लापरवाही के लिए पुलिस अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा।

Author September 30, 2016 12:25 AM

उपराज्यपाल नजीब जंग ने गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी की कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए महिलाओं एवं पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों की सुरक्षा पर जोर दिया और कहा कि कामकाज में किसी भी तरह की लापरवाही के लिए पुलिस अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। जंग ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त आलोक कुमार, विशेष आयुक्तों (कानून व्यवस्था), संयुक्त आयुक्त (सभी रेंज), सभी पुलिस उपायुक्तों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की और कड़ी कार्रवाई एवं अनुपालन के लिए निर्देश जारी किए।
उन्होंने पुलिस उपायुक्तों को निर्देश दिया कि वे तय करें कि थाना प्रभारियों एवं उनके अधीनस्थ कर्मचारियों, खासकर आम लोगों से जुड़े कर्मचारियों का आचरण उच्च स्तर का हो। जंग ने कहा कि पुलिस कर्मियों को लोगों एवं उनकी समस्याओं को लेकर संवेदनशीलता दिखानी चाहिए।


उन्होंने अधिकारियों को महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को बिल्कुल बर्दाश्त ना करने की नीति अपनाने का निर्देश देते हुए कहा कि इस तरह की घटनाओं की संख्या को ठोस उपायों द्वारा कम किया जा सकता है। उपराज्यपाल ने साथ ही पुलिस से खासकर उन इलाकों में गश्ती तेज करने के लिए कहा जो महिलाओं के प्रति होने अपराधों के लिहाज से ज्यादा संवेदनशील हैं। उन्होंने कहा कि थाना प्रभारियों को उन इलाकों में महिलाओं के साथ काम कर रहे स्थानीय गैर सरकारी संगठनों के साथ सक्रियता से जुड़ना चाहिए।

उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में पूर्वोत्तर के राज्यों के लोगों की सुरक्षा को लेकर अधिकारियों को उनके खिलाफ खासकर महिलाओं के प्रति किसी भी लक्षित अपराध को लेकर सतर्क रहने को कहा। जंग ने कहा कि दिल्ली में रहने वाले पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों के खिलाफ अपराध होने पर उन इलाकों के थाना प्रभारियों सहित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी। उन्होंने सांप्रदायिक सौहार्द को लेकर कहा कि पुलिस को शांति एवं सांप्रदायिक सौहार्द भंग करने की कोशिश करने वाले तत्त्वों को अलग-थलग करना चाहिए और उनसे कड़ाई से निपटना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App