ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली में अफ्रीकियों पर हमले: वीके सिंह बोले-मामूली झगड़े को बढ़ा चढ़ाकर दिखा रहा मीडिया

उन्‍होंने मीडिया की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा, 'मीडिया यह सब क्‍यों कर रहा है? जिम्‍मेदार नागरिक के तौर पर हमें मीडिया से सवाल करने चाहिए।'

Author नई दिल्‍ली | May 29, 2016 6:32 PM
केंद्रीय मंत्री वीके सिंह

दक्षिण दिल्ली के महरौली इलाके में अफ्रीकी नागरिकों पर कथित हमले में केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने दावा किया है कि ये ‘हल्‍के फुल्‍के झगड़े’ के मामले हैं, जिसे मीडिया बढ़ा चढ़ाकर जाहिर कर रहा है। वीके सिंह ने कहा, ‘दिल्‍ली पुलिस के साथ इस मुद्दे पर विस्‍तृत चर्चा करने के बाद मैंने पाया कि मीडिया राजपुर खुर्द में हुए हल्‍के फुल्‍के झगड़े के मामले को अफ्रीकी लोगों पर हमले के तौर पर दिखा रहा है।’ एक के बाद एक किए गए ट्वीट्स में उन्‍होंने मीडिया की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘मीडिया यह सब क्‍यों कर रहा है? जिम्‍मेदार नागरिक के तौर पर हमें मीडिया से सवाल करने चाहिए।’

बता दें कि हमले के मामले में दिल्ली पुलिस ने रविवार को चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया और चार अन्य को हिरासत में ले लिया। इन आठ लोगों के अलावा एक किशोर को भी हिरासत में लिया गया है। अफ्रीकी नागरिकों पर हमलों की तीन अलग अलग घटनाओं के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह और उपराज्यपाल नजीब जंग के साथ इस मुद्दे को उठाया था जिसके बाद अधिकारियों ने जांच-पड़ताल तेज कर दी।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) ईश्वर सिंह ने कहा, ‘‘बाबू, ओमप्रकाश, अजय और राहुल नाम के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और पांचवें आरोपी को चोट पहुंचाने और गलत तरीके से बंधक बनाने के आरोपों में पकड़ा गया है जो नाबालिग है।’’ जांचकर्ताओं ने कहा कि चार और लोगों को हिरासत में लिया गया और पूछताछ की जा रही है।

हमलों की घटनाओं में कम से कम छह अफ्रीकी नागरिक घायल हो गये। पुलिस ने दोनों घटनाओं के लिए अफ्रीकी नागरिकों द्वारा तेज आवाज में संगीत बजाने और दूसरे में सार्वजनिक रूप से शराब पीने पर स्थानीय लोगों के ऐतराज की वजह बताई। इससे पहले दक्षिण दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में पिछले हफ्ते कांगो के 23 साल के एम के ओलिवर की हत्या कर दी गयी थी जिसके बाद अफ्रीकी देशों के राजनयिकों ने अपनी अप्रसन्नता व्यक्त की थी। भारत ने अफ्रीकी राजदूतों को सभी अफ्रीकी नागरिकों की सुरक्षा का आश्वासन दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App