ताज़ा खबर
 
title-bar

MCD चुनाव नतीजे 2017: मोदी लहर का असर- 45 दिन में आप की चार हार, ताबड़तोड़ इस्तीफे, कांग्रेस में भी उथल-पुथल

MCD चुनाव नतीजे 2017: 272 में से 270 सीटों पर हुए चुनाव के नतीजों में भाजपा 184 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

एमसीडी चुनाव नतीजों के बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी में भारी उथल-पुथल देखने को मिल रहा है।

दिल्ली के तीनों नगर निगम चुनाव के नतीजों से जहां एक और भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदों का कमल खिल कर पूरी दिल्ली में महक रहा है वहीं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) में भारी उथल-पुथल देखने को मिल रहा है। 272 में से 270 सीटों पर हुए चुनाव के नतीजों में भाजपा 184 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है जबकि दूसरे पायदान पर आप है, जिसके खाते में 45 सीटें गई हैं। कांग्रेस तीसरे नंबर की पार्टी बन गई है। उसे 30 सीटें मिली हैं। अन्य के खाते में 11 सीटें गई हैं। एकबार फिर से दिल्ली के तीनों नगर निगमों में भाजपा का शासन होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस जीत के लिए दिल्‍ली की जनता का शुक्रिया अदा किया है। उन्‍होंने कहा कि ‘दिल्‍ली के लोगों ने बीजेपी में भरोसा दिखाया, इसके लिए मैं उनका शुक्रगुजार हूं। मैं एमसीडी चुनावों में भाजपा की भारी जीत सुनिश्चित करने के लिए टीम बीजेपी की बड़ी मेहनत की प्रशंसा करता हूं।” पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भी कोलकाता में प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर इस जीत को पीएम मोदी की नीतियों की जीत और जनता का उन पर भरोसे का परिणाम बताया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस जीत को सुकमा के शहीदों को समर्पित किया है और कहा है कि तीन महीने के अंदर दिल्ली गंदगी मुक्त होगी।

इस बीच कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि अगले एक साल तक वो पार्टी का कोई भी पद नहीं संभालेंगे। माकन ने कहा, “हार की नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं। एक साल तक कोई पद नहीं लूंगा। सालभर कार्यकर्ता की तरह रहूंगा।” हालांकि, उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने वापसी की है लेकिन उन्हें और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी। उन्होंने कहा कि इलेक्शन कमिशन को ईवीएम पर जांच करनी चाहिए। माकन के बाद दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पी सी चाको ने भी इस्तीफे की पेशकश की है। उन्होंने कहा, “हम दोनों (चाको और माकन) ही एक तरह से अपनी जिम्‍मेदारी निभाने में नाकाम रहे। पार्टी को चीजें सही करने के लिए मौका देना चाहिए ताकि स्थिति सुधरे।” कांग्रेस में उथल-पुथल का सिलसिला यहीं नहीं थमा। दिल्ली नगर निगम चुनावों में हार की गूंज मुंबई में भी सुनाई दी। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी (AICC) के महासचिव गुरुदास कामत ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। कामत पहले भी इस्तीफा दे चुके हैं लेकिन काफी मान मनौव्वल के बाद उन्होंने अपना इस्तीफा वापस ले लिया था।

दिल्ली में सरकार चला रही आम आदमी पार्टी के अंदरखाने भी भारी उथल-पुथल की खबर है। पार्टी को पिछले 45 दिनों में चार बड़ी हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि, पार्टी संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत तमाम नेता इस हार के लिए ईवीएम में छेड़छाड़ को जिम्मेदार मान रहे हैं। इस बीच आप विधायक अलका लांबा ने भी इस्तीफे की पेशकश की है। मालवीय नगर से आप विधायक सोमनाथ भारती ने भी इस्तीफे की पेशकश की है। आप पर बाहरी हमले भी हो रहे हैं। अरविंद केजरीवाल के बड़े शुभचिंतक रहे अन्ना हजारे ने उन्हें कड़ी फटकार लगाते हुए कहा है कि ईवीएम ने नहीं, कथनी-करनी के फर्क ने आप को हराया है। उन्होंने कहा कि लोग समझ चुके हैं क‍ि इनके द‍िमाग में सेवा नहीं सत्‍ता है। केजरीवाल के पूर्व सहयोगी मयंक गांधी ने भी एक खत लिखकर अरविंद केजरीवाल की नीतियों की आलोचना की है।

वीडियो: MCD चुनावों में बीजेपी की जीत पर अमित शाह बोले- "नतीजों ने बीजेपी के विजय रथ को और आगे बढ़ाया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App