ताज़ा खबर
 

ट्रेन में कत्ल: बीफ को लेकर तंज मारा, टोपी फेंकी, दाढ़ी खींची, पीटा, फिर चाकू मारकर ट्रेन से फेंक दिया

हमारे गांव में बीफ पकाया तक नहीं जाता है लेकिन फिर भी हमें ताने मारे जा रहे थे।
Author नई दिल्ली | June 24, 2017 13:55 pm
शाकिर को पांच बार चाकू मारा गया जिसमें से एक उसकी छाती पर लगा।

15 वर्षीय जुनैद खान गुरुवार को जब अपने घर बल्लभगढ़ से निकला था तो उसने सोचा था कि वह दिल्ली से ईद के मौके पर अपने लिए नया कुर्ता-पायजामा, नए जूते और अपने लिए कुछ अन्य चीजें लेकर आएगा लेकिन किसी को क्या पता था कि वह यह खुशी अपने परिवार के साथ मनाने के लिए कभी घर वापस ही नहीं लौटेगा। ईद की खरीददारी कर जुनैद अपने तीन भाई हाशिम, शाकिर और मोइन के साथ मथुरा जा रही ट्रेन में घर जाने के लिए सफर कर रहा था कि बीफ की अफवाह के बीच करीब 10-12 लोगों ने उनपर चाकू से हमला कर दिया जिसमें जुनैद की मौत हो गई और उसके दो भाई हाशिम और शाकिर गंभीर रूप से घायल हो गए।

इस मामले की जानकारी देते हुए 23 वर्षीय शाकिर ने बताया कि ट्रेन में सफर कर रहे कुछ युवकों ने पहले तो उनके पहनावे को लेकर अभद्र टिप्पणी की और फिर बाद में बीफ खाने वाला बताने लगे। उन्होंने हमारे सिर से टोपी उतारकर फेंक दी और वे मेरे भाई की दाढ़ी खींचने लगे। वे हमें बार-बार ताने मारे जा रहे थे कि हम बीफ खाते हैं। हमारे गांव में बीफ पकाया तक नहीं जाता है लेकिन फिर भी हमें ताने मारे जा रहे थे। जैसे ही हम बल्लभगढ़ पहुंचे तो उन्होंने चाकू निकाल लिए। वे सभी हमसे बड़े थे जिसकी वजह से हम कुछ नहीं कर पाए। रोते-रोते शाकिर ने बताया कि एक व्यक्ति ने पहले तो जुनैद पर कई बार चाकू से हमला किया और फिर उसके बाद हाशिम और मुझपर हमला कर दिया। शाकिर को पांच बार चाकू मारा गया जिसमें से एक उसकी छाती पर लगा।

उन्मादी भीड़ ने चार मुस्लिम युवकों की न केवल जमकर पिटाई कर दी बल्कि उसे चलती ट्रेन से नीचे भी फेंक दिया।

फिलहाल शाकिर एम्स के ट्रोमा सेंटर में भर्ती है। चाकू लगने के बाद शाकिर बेहोश हो गया था और उसे पता नही आगे उसके साथ क्या हुआ था। शाकिर ने कहा कि हासिम ने मुझे बताया कि आरोपियों ने उन्हें घायल करने के बाद असौती स्टेशन पर फेंक दिया था। किसी व्यक्ति ने एंबुलेंस बुलाकर उन्हें पलवल के अस्पताल में पहुंचाया, जहां पर जुनैद ने दम तोड़ दिया और बाकी घायलों को एम्स रेफर कर दिया गया।

पुलिस थाने में दर्ज कराई गई एफआईआर के अनुसार दो गुटों के बीच सीट को लेकर झगड़ा हुआ था। दूसरे पक्ष को पीड़ितों के परिधान से लगा कि वे मुस्लिम हैं तो उन्होंने उन्हें ताना मारना शुरु कर दिया। शाकिर ने कहा कि जब वे जुनैद पर हमला कर रहे थे तो हमने उनसे कहा था कि उसे मत मारों वह बच्चा है लेकिन उन्होंने हमारी एक न सुनी। हमने उनसे यह भी कहा था कि हमने आपके धर्म के बारे में कुछ नहीं कहा है आप भी हमारे धर्म के बारे में कुछ मत कहिए। इस घटना की शिकायत फरीदाबाद जीआरपी स्टेशन में दर्ज कराई गई है। एसपी ने बताया कि इस मामले में एक गिरफ्तारी हो चुकी है और जल्द ही अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. م
    محمد
    Jun 24, 2017 at 12:32 pm
    मुस्लिम खमोश नहीं बेतेग
    (0)(0)
    Reply
    1. Hari Dutt Vashistha
      Jun 24, 2017 at 10:53 am
      मासूमों की हत्या से सभी व्यथित हैं ! ये मा ा भीड़ या बीफ का नहीं लगता, कुछ गुंडों ने सीट के मामूली विवाद पर यात्रा कर रहे लोगों पर चाकुओं से ह ा कर दिया तथा मार दिया ! बीच बचाव करने वालों पर भी ह ा हुआ ऐसा पता लगा है ! यहाँ संप्रदाय वाला रंग न दिया जाये, आक्रमणकारी गुंडे थे जो चाकू लेकर घूम रहे थे ! आप पत्रकार हैं सत्य लिखें !
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        Swami
        Jun 24, 2017 at 1:38 pm
        Bhai jo statement di h usmein to yeh bola h ki dharam related conversation bhi h . Point is what sort of things we are encouraging now days..once u have a govt who is not secular these things will always be promoted
        (0)(0)
        Reply
        1. R
          RIZWAN
          Jun 24, 2017 at 6:05 pm
          Nhe bhai ye darm ke vajah se he mara hai rss vale hoge
          (0)(0)
          Reply