ताज़ा खबर
 

किराया बढ़ा तो डीटीसी भी नहीं रह पाएगी मेट्रो : सिसोदिया

डीटीसी की जितनी बुरी हालत है, केंद्र सरकार मेट्रो की वैसी हालत नहीं होने देगी। उनकी इस टिप्पणी से नाराज दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर मेट्रो का किराया बढ़ा और उसे यात्री नहीं मिले तो उसकी हालत डीटीसी से भी बदतर हो जाएगी।

Author नई दिल्ली | October 2, 2017 03:57 am
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी की दिल्ली मेट्रो को लेकर की गई एक तीखी टिप्पणी से दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार नाखुश है। पुरी ने एक ट्वीट कर कहा था कि दिल्ली मेट्रो को डीटीसी (दिल्ली परिवहन निगम) नहीं बनने देंगे। उनका आशय यह था कि डीटीसी की जितनी बुरी हालत है, केंद्र सरकार मेट्रो की वैसी हालत नहीं होने देगी। उनकी इस टिप्पणी से नाराज दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर मेट्रो का किराया बढ़ा और उसे यात्री नहीं मिले तो उसकी हालत डीटीसी से भी बदतर हो जाएगी।  सिसोदिया ने दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के साथ रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन की बेहद गंभीर स्थिति पैदा हो गई है। मेट्रो का किराया दिल्ली सरकार के विरोध के बावजूद बढ़ाया जा रहा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार को किराया नहीं बढ़ाने के लिए चिट्ठी भी लिखी। उन्होंने कहा कि पहले मेट्रो की ओर से कहा गया कि उसके राजस्व में वृद्धि हुई है, लेकिन अब कहा जा रहा है कि मेट्रो घाटे में है। उन्होंने हरदीप पुरी के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि कि मेट्रो को डीटीसी जैसा नहीं बना सकते तो इसके जवाब में हमारा यह कहना है कि है अगर आप किराया बढ़ाओगे तो वह डीटीसी की तरह भी नहीं चल पाएगी।
सिसोदिया ने कहा कि मेट्रो की जरूरत मुनाफे के लिए नहीं है, बल्कि इसका मकसद लोगों को सहूलियत देना है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री के बयान की ओर इशारा करते हुए कहा कि आप मेट्रो की तुलना डीटीसी से कर रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App