ताज़ा खबर
 

उपराज्यपाल ने नहीं दिया मिलने का समय, बिफरे सिसोदिया

एक अन्य ट्वीट में भी सिसोदिया ने उपराज्यपाल से मिलने का समय मांगा था। मुख्यमंत्री ने भी ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री दिल्ली के उपराज्यपाल बैजल से इसलिए खफा हैं क्योंकि वे दिल्ली सरकार के अच्छे कामों में अपेक्षित बाधाएं नहीं खड़ी कर पा रहे हैं।

Author नई दिल्ली, 6 जून। | June 7, 2018 5:08 AM
सूबे के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राजनिवास पर आरोप लगाया है कि उनके बार-बार आग्रह के बावजूद उपराज्यपाल अनिल बैजल उन्हें मिलने का समय नहीं दे रहे हैं।

दिल्ली सरकार और राजनिवास के बीच तकरार का सिलसिला बदस्तूर जारी है। इस टकराव के आग में घी डालने का काम सरकार और राजनिवास दोनों की ओर से किया जा रहा है। सूबे के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राजनिवास पर आरोप लगाया है कि उनके बार-बार आग्रह के बावजूद उपराज्यपाल अनिल बैजल उन्हें मिलने का समय नहीं दे रहे हैं। उनका कहना है कि बीते शुक्रवार से ही वे उपराज्यपाल से मिलने का समय मांग रहे हैं लेकिन उन्हें समय नहीं दिया जा रहा। सिसोदिया ने बुधवार को अलग-अलग ट्वीट कर इस मामले में उपराज्यपाल बैजल पर हमला बोला। उन्होंने उपराज्यपाल को संबोधित कर एक ट्वीट में लिखा कि वे राजनिवास से बीते शुक्रवार से शाम से ही मिलने का समय देने का आग्रह कर रहे हैं।

वे दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य व लोक निर्माण मंत्री सत्येंद्र जैन और श्रम मंत्री गोपाल राय के साथ आकर उपराज्यपाल से दिल्ली से संबंधित महत्त्वपूर्ण मसलों पर चर्चा करना चाहते थे लेकिन उन्हें मिलने का समय नहीं दिया गया। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में उपराज्यपाल को लिखा कि उपराज्यपाल-मुख्यमंत्री की साप्ताहिक पूर्व निर्धारित बैठक में भी मिलने के हमारे आग्रह को आपने (उपराज्यपाल) ठुकरा दिया। आखिर आप कहां इतने व्यस्त हैं कि दिल्ली सरकार के मंत्रियों तक को बार-बार आग्रह करने के बावजूद मिलने का समय नहीं दे रहे?

एक अन्य ट्वीट में भी सिसोदिया ने उपराज्यपाल से मिलने का समय मांगा था। मुख्यमंत्री ने भी ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री दिल्ली के उपराज्यपाल बैजल से इसलिए खफा हैं क्योंकि वे दिल्ली सरकार के अच्छे कामों में अपेक्षित बाधाएं नहीं खड़ी कर पा रहे हैं। उनके मुताबिक पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग भी इसी वजह से हटाए गए थे। सरकार की ओर से उपराज्यपाल पर लगातार निशाना साधा जा रहा है। राजनिवास की ओर से भी आरोपों का जवाब दिया जाता है। बैजल पहले भी यह ताकीद कर चुके हैं कि तय होने पर उनसे मिलने के लिख खुद मुख्यमंत्री केजरीवाल आया करें, उपमुख्यमंत्री या अन्य मंत्रियों को नहीं भेजें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App