lg anil baijal did meeting over protection for dengue and chikungunya - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली: बीमारियों को लेकर राज्यपाल ने संभाली कमान, डेंगू व चिकनगुनिया की तैयारियों पर की समीक्षा बैठक

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राजधानी में संभावित जल जनित बीमारियों को देखते हुए सभी एजंसियों को जागरूकता अभियान पर ज्यादा ध्यान देने का आदेश दिया है।

Author नई दिल्ली | June 8, 2017 2:46 AM
उपराज्यपाल अनिल बैजल

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राजधानी में संभावित जल जनित बीमारियों को देखते हुए सभी एजंसियों को जागरूकता अभियान पर ज्यादा ध्यान देने का आदेश दिया है। बुधवार को राजनिवास में डेंगू व चिकनगुनिया की तैयारियों की समीक्षा बैठक की गई। इस बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित मंत्री सत्येंद्र जैन और संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे। बैठक की शुरुआत 5 मई, 2017 को हुई बैठक में लिए गए फैसलों की समीक्षा से हुई।
स्वास्थ्य व परिवार कल्याण सचिव ने उपराज्यपाल को विभाग की ओर से उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि वर्तमान में बुखार पीड़ितों के लिए 40 अस्पतालों में 750 बिस्तरों की व्यवस्था है। जरूरत पड़ने पर उसको बढ़ाने की व्यवस्था की जाएगी साथ ही समुचित मात्रा में दवाईयों और जांच किट, आइवी फ्लयूड, मच्छरदानियों आदि की व्यवस्था की गई है।

उपराज्यपाल ने अंग्रेजी, हिन्दी, उर्दू एवं अन्य भाषाओं के समाचार पत्रों में हैंडबिल्स के माध्यम से, होर्डिंगस, बिलबोर्ड, नुक्कड़ नाटक आदि के जरिए इंफार्मेशन, एजुकेशन एवं कम्यूनिकेशन पर जोर दिया। उन्होंने आइईसी सामग्री स्कूली बच्चे और आरडबल्यूए के लिए भी बनाने पर जोर दिया।
उपराज्यपाल ने स्थानीय निकाय अधिकारियों की क्षेत्रवार ड्यूटी लगाने और उनका उत्तरदायित्व सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने लोगों को अपने आसपास के क्षेत्रों में संभावित ब्रिडिंग साइटों के बारे में जागरूक करने के निर्देश दिए।

उपराज्यपाल ने विभिन्न मुद्दों जैसे आइईसी सामग्री, निरीक्षण किए गए मकानों की संख्या, मच्छरों के पनपने के खिलाफ उठाए गए कदमों की संख्या एवं की गई दंडात्मक कार्रवाईयों की साप्ताहिक रिपोर्ट आंकड़ों सहित उपराज्यपाल, मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री व मुख्य सचिव, दिल्ली सरकार को भेजे जाने की इच्छा व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने आने वाले मानसून और जलजमाव की संभावनाओं को देखते हुए सभी एजंसियों को इस संबंध में समुचित व्यवस्था कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने यह भी कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों को निगरानी के लिए क्षेत्र में नियमित निरीक्षण के लिए जाना चाहिए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App