ताज़ा खबर
 

जल्‍द ही मोबाइल फोन के जरिए निकाल सकेंगे पीएफ का पैसा

दत्तात्रेय ने कहा कि 31 मार्च 2016 तक कुल 3.76 करोड़ सदस्य द्वारा इसमें योगदान दिया गया।

Author नई दिल्ली | April 11, 2017 11:39 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

ईपीएफओ ने अपने सदस्यों को बहुत बड़ी खुशखबरी दी है। अब नौकरीपेशा लोग मोबाइल ऐप के जरिए अपना पीएफ निकाल सकेंगे।कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ईपीएफओ के करीब चार करोड़ सदस्य ईपीएफ निकासी जैसे दावों का निपटान मोबाइल एप्लीकेशन ‘उमंग’ के जरिये कर सकेंगे। श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि ईपीएफओ ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करके ऑनलाइन दावा निपटान प्रक्रिया का विकास कर रहा है। मंत्री ने यह भी कहा, ‘‘एप्लीकेशन को नये दौर के अनुरूप यूनिफाइड मोबाइल ऐप ‘उमंग’ के साथ एकीकृत किया जाएगा ताकि दावा ऑनलाइन के जरिए प्राप्त किया जा सके। हालांकि, इसके क्रियान्वयन की समय सीमा अभी तय नहीं हुई है।

ईपीएफओ को भविष्य निधि की निकासी, पेंशन निर्धारण या पीड़ित परिवार द्वारा समूह बीमा प्राप्त करने के लिये करीब एक करोड़ आवेदन प्राप्त होते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार ईपीएफओ के देशभर स्थित 123 कार्यालयों में से 110 को केंद्रीय सर्वर से जोड़ दिया गया है। अधिकारी के बताया यह सुविधा शुरू करने के लिये सभी कार्यालयों को केंद्रीय सर्वर से जोड़ना तकनीकी रूप से जरूरी है।

श्रम मंत्री ने सदन में यह भी कहा कि ईपीएफओ ने अपनी तकनीक उन्नत बनाने और दिल्ली, गुरूग्राम और सिकंदराबाद स्थित अपने तीन केंद्रीय डाटा केंद्रों पर अत्याधुनिक उपकरण स्थापित करने के लिये तकनीकी परामर्शदाता के रूप में सेंटर फार डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कंप्यूटिंग :सी-डैक:, पुणे को जोड़ा है।  इसके साथ ही एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए दत्तात्रेय ने कहा कि 31 मार्च 2016 तक कुल 3.76 करोड़ सदस्य द्वारा इसमें योगदान दिया गया। जिसमें से 1.68 करोड़ के यूएएन को आधार से जोड़ दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पीएफ निकालने के लिए दी जाने वाली अर्जी के केवल तीन घंटे के अंदर ही भुगतान कर दिया जाएगा। बता दें कि पहले इसके लिए 20 दिनों का समय लगता था लेकिन मोबाइल ऐप के जरिए इसे जल्द से जल्द निपटा दिया जाएगा।

दिखिए वीडियो - वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में GST से जुड़े 4 बिल किए पेश; कहा- "यह सबका फायदा करेगा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App