ताज़ा खबर
 

‘अप्प दीप’ योजना’ के तहत 31 से केवी के विद्यार्थियों को मिलेंगे टैबलेट

सभी टैबलेट में पाठ्यक्रम डाउनलोड कर दिया गया है और 31 अक्तूबर से इनका वितरण शुरू कर दिया जाएगा। इस योजना के शुभारंभ पर कोई आधिकारिक कार्यक्रम होगा या नहीं अभी यह तय नहीं है।

Author नई दिल्ली | October 17, 2017 3:42 AM
चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (Express Photo)

केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) ‘अप्प दीप’ योजना की शुरुआत 31 अक्तूबर से करने जा रहा है। इसके तहत इस साल देश के 25 केंद्रीय विद्यालयों की आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को टैबलेट दिए जाएंगे। इसके बाद अगले साल से सभी विद्यालयों में इस योजना को लागू किया जाएगा।  केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक इस योजना की शुरुआत शिक्षक दिवस पर ही करने की थी लेकिन कुछ कारणों से ऐसा नहीं हो पाया। अब क्योंकि आधे से अधिक शैक्षणिक सत्र निकल चुका है, ऐसे में विद्यार्थियों को टैबलेट देने में और देर करने से योजना का मकसद ही पूरा नहीं होगा। इसलिए अब इसमें देरी की गुंजाइश नहीं है। अधिकारी के मुताबिक सभी टैबलेट में पाठ्यक्रम डाउनलोड कर दिया गया है और 31 अक्तूबर से इनका वितरण शुरू कर दिया जाएगा। इस योजना के शुभारंभ पर कोई आधिकारिक कार्यक्रम होगा या नहीं अभी यह तय नहीं है।

योजना के तहत 25 विद्यालयों के कक्षा आठ के करीब 5,000 विद्यार्थियों को इस साल टैबलेट दिए जाएंगे। इसके अलावा इन स्कूलों के 200 शिक्षकों को भी टैबलेट उपलब्ध कराया जाएगा। टैबलेट में उनका पूरा पाठ्यक्रम होगा। टैबलेट मिलने के बाद विद्यार्थियों को सभी किताबें स्कूल ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी। विद्यार्थी अपनी सुविधानुसार कभी भी और कहीं भी पढ़ाई कर सकेंगे। इसके अलावा छात्र खुद सीखने के साथ अन्य छात्रों से सीखेंगे और उन्हें सीखाएंगे। दिव्यांगों के लिए भी इस योजना का लाभ होगा। टैबलेट योजना पर शुरुआती में करीब 9 करोड़ रुपए के खर्च की संभावना है। इन 25 विद्यालयों में इस योजना की सफलता के बाद इस योजना को भविष्य में सभी करीब 1,200 विद्यालयों में लागू किया जाएगा।

इन टैबलेट के लिए राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) से ई-सामग्री प्राप्त होगी। इसके अलावा कुछ और निजी कंपनियां हैं जिनकी ई-सामग्री मुफ्त उपलब्ध है। ये टैबलेट विद्यार्थियों के पास कक्षा 8 से लेकर कक्षा 12 तक रहेंगे। इसके बाद अगर छात्र चाहे तो अपने साथ ले जा सकते हैं। इन टैबलेट में वही सामग्री देखी और पढ़ाई जा सकेगी जिनकी केवीएस से इजाजत होगी। इसके अलावा न तो इनमें कुछ डाउनलोड होगा और न अन्य कोई वेबसाइट खुल सकेगी। यानी टैबलेट में बच्चे अपने मन से कोई सामग्री डाउनलोड नहीं कर पाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App