Kapil Mishra's Mother Letter to delhi cm say's- Arvind Kejriwal, Be Afraid Of God - कपिल मिश्रा की मां का केजरीवाल को खत, ये झूठ तुम्हारे काम नहीं आएगा अरविंद, भगवान से डरो - Jansatta
ताज़ा खबर
 

कपिल मिश्रा की मां का केजरीवाल को खत, ये झूठ तुम्हारे काम नहीं आएगा अरविंद, भगवान से डरो

कपिल मिश्रा की मां ने अरविंद केजरीवाल द्वारा कपिल को भारतीय जनता पार्टी का एजेंट बताने पर नाराजगी जताई है।

कपिल मिश्रा की मां ने लिखा कि मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मेरा बेटा तुमसे सवाल पूछेगा और तुम (अरविंद केजरीवाल) सवालों से बचोगे। (Source: PTI)

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अनशन पर बैठे दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा के साथ अब इस लड़ाई में उनकी मां डॉ.अन्नपूर्णा मिश्रा भी आ गई हैं। डॉ.अन्नपूर्णा मिश्रा ने केजरीवाल को कड़ा खत लिखा है। इसमें उन्होंने सीएम पर झूठ बोलने और जानकारी नहीं देने के आरोप लगाए हैं। इसमें उन्होंने अरविंद केजरीवाल द्वारा कपिल को भारतीय जनता पार्टी का एजेंट बताने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने पत्र में लिखा है, कितना झूठ बोलोगे अरविंद? कितना झूठ? ये झूठ तुम्हारे काम नहीं आने वाले। भगवान से डरो। उन्होंने लिखा है, मैं तुम्हें यह पहला और आखिरी खत लिख रही हूं। मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मेरा बेटा तुमसे सवाल पूछेगा और तुम सवालों से बचोगे।

जब-जब तुम मुझसे मिले हो तुमने हमेशा सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता की बात की। हर चीज को जनता के सामने रखने की बात की। आज मेरे बेटे पर बीजेपी का एजेंट होने का आरोप लगा रहे हो। सोशल मीडिया में झूठी तस्वीरें तुम्हारे सबसे करीबी साथी फैला रहे हैं। पत्र में लिखा है, ‘कल शाम को आम आदमी पार्टी के ज्यादातर वरिष्ठ नेताओं ने सोशल मीडिया पर जो तस्वीर फैलाई उस कार्यक्रम में तो तुम भी थे। तुम्हारी सारी कैबिनेट थी। आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास के पिताजी के सम्मान में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था। डॉ. अन्नपूर्णा मिश्रा ने लिखा है, याद है जब तुम मेरे घर आये थे कि कपिल को पार्टी में लेना चाहता हूं चुनाव लड़वाना है कपिल मान नहीं रहा। कपिल केवल आंदोलन करना चाहता था और तुमने कहा था कि कपिल की जरूरत है।

आज तुम्हारे लोग मुझे भी भ्रष्टाचारी कह रहे हैं। तुम चुप हो। दिल्ली की सबसे पहली मोहल्ला सभा 2007 में मैंने लगाई थी। उसमे तुम और तुम्हारे साथी भी आए थे। तब तो कोई आंदोलन या पार्टी का नामोनिशान भी नहीं था। कपिल उस मोहल्ला सभा को संचालित कर रहा था। तुमने अपनी किताब ‘स्वराज’ में मेरे काम करने के तरीकों को लिखा है। आज तुम कहां से कहां आ गए हो। अरविंद तुमने कपिल के साथ काम तो किया है पर शायद उसे पहचाना नहीं। वो बहुत जिद्दी है। उसने तीन दिन से कुछ नहीं खाया है। मुझे गर्व है कि मैंने ऐसे बेटे को जन्म दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App