ताज़ा खबर
 

अनशन के बीच राजघाट पहुंच फूट-फूटकर रोए कपिल मिश्रा, फिर बोले- कल हनुमान मंदिर जाऊंगा

अनशन पर बैठे कपिल मिश्रा शुक्रवार (12 मई) को राजघाट पहुंचकर फूट-फूटकर रोने लगे।

दिल्ली विधानसभा में पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा के साथ मारपीट।

अनशन पर बैठे कपिल मिश्रा शुक्रवार (12 मई) को राजघाट पहुंचकर फूट-फूटकर रोने लगे। कपिल मिश्रा पिछले तीन दिनों से अनशन पर बैठे हुए हैं। बाद से मीडिया से बात करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि वह कल कनॉट पैलेस वाले हनुमान मंदिर जाएंगे। कपिल ने कहा कि बापू (महात्मा गांधी) से मिलने का मन हुआ वह इसलिए राजघाट पहुंचे। कपिल के साथ उनकी पत्नी भी थीं।

इससे पहले कपिल मिश्रा  की मां डॉ.अन्नपूर्णा मिश्रा ने केजरीवाल को कड़ा खत लिखा था। इसमें उन्होंने सीएम पर झूठ बोलने और जानकारी नहीं देने के आरोप लगाए हैं। इसमें उन्होंने अरविंद केजरीवाल द्वारा कपिल को भारतीय जनता पार्टी का एजेंट बताने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने पत्र में लिखा है, कितना झूठ बोलोगे अरविंद? कितना झूठ? ये झूठ तुम्हारे काम नहीं आने वाले। भगवान से डरो। उन्होंने लिखा है, मैं तुम्हें यह पहला और आखिरी खत लिख रही हूं। मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मेरा बेटा तुमसे सवाल पूछेगा और तुम सवालों से बचोगे।

कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से विदेश यात्रा पर खर्च हुए पैसे का हिसाब मांगा है। वह केजरीवाल समेत आप के पांच सीनियर नेताओं के विदेशी दौरे की डीटेल मांग रहे हैं। अनशन पर बैठे होने के दौरान कपिल मिश्रा पर हमला भी हुआ था। एक शख्स ने आकर उनकी गर्दन दबाने की कोशिश की थी। वह खुद को आप कार्यकर्ता बता रहा था।

इससे पहले कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल पर रिश्वत लेने के आरोप लगाए हैं। कपिल मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दावा किया था कि सत्येंद्र जैन ने अरविंद केजरीवाल को दो करोड़ रुपए कैैश दिए थे। कपिल ने अपने आप को इस पूरी घटना का गवाह बताया था। कपिल ने कहा था कि उन्होंने केजरीवाल से उन पैसों के बारे में पूछा भी था। कपिल के मुताबिक, तब केजरीवाल ने कहा था कि राजनीति में कुछ बातों के बारे में बाद में बताया जाता है।

कपिल ने ये आरोप अपने आपको मंत्रीपद से हटाए जाने के बाद लगाए थे। कपिल मिश्रा को हटाए जाने पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि जल मंत्रालय में कपिल की मेहनत के बावजूद ठीक से काम नहीं हो रहा था। मनीष ने कहा था कि नगर निगम चुनाव से ठीक पहले पानी के बिल ज्यादा आने लगे थे। जिसका सीधा असर एमसीडी चुनाव पर पड़ा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App