ताज़ा खबर
 

विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ कपिल ने खोला मोर्चा, बोले- सत्येंद्र जैन की जगह अमित शाह के बेटे पर होती है चर्चा

कपिल मिश्रा ने विधानसभा अध्यक्ष गोयल को लिखे एक पत्र में कहा है कि सत्ता पक्ष सदन के वेल में आया हुआ था, पोस्टर्स खोले हुए थे लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

Author नई दिल्ली | Updated: October 11, 2017 11:58 AM
kapil mishraदिल्ली की आम आदमी पार्टी से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी के कारोबार में एक साल के भीतर आए उछाल के मुद्दे को दिल्ली विधानसभा में उठाए जाने को लेकर आम आदमी पार्टी के बागी विधायक व पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल के खिलाफ मोर्चा खोला है। उनका कहना है कि सदन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले पर तो चर्चा नहीं होती लेकिन अमित शाह के बेटे के मुद्दे पर चर्चा होती है। भाजपा विधायकों जगदीश प्रधान और मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर सदन की कार्यवाही को लेकर अपना विरोध जताया है। कपिल मिश्रा ने विधानसभा अध्यक्ष गोयल को लिखे एक पत्र में कहा है कि सत्ता पक्ष सदन के वेल में आया हुआ था, पोस्टर्स खोले हुए थे लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

उन्होंने लिखा है कि इसी सदन में कुछ दिन पहले उन्होंने सत्येंद्र जैन और केजरीवाल के भ्रष्टाचार पर सदन में एक बैनर खोला था और विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें मात्र 30 सेकेंड में मार्शल बुलवाकर बाहर निकलवा दिया। उन्होंने कहा सत्येंद्र जैन और उनकी पत्नी के भ्रष्टाचार पर चर्चा नहीं होने दी गई, केजरीवाल के हवाला कांड पर चर्चा नहीं होने दी लेकिन अमित शाह के बेटे को लेकर सदन में पोस्टर्स खोले गए तो कोई कार्रवाई नहीं हुई।  उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह किया है कि विधानसभा को दिल्ली के लोगों के हित में चलाया जाए। न कि राजनीतिक हितों के लिए सदन के समय का दुरुपयोग किया जाए।दूसरी ओर भाजपा विधायकों जगदीश प्रधान, ओपी शर्मा और मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर उनसे विरोध दर्ज कराया है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से कहा है कि सदन चलाने में पक्षपात नहीं होना चाहिए। सत्ता पक्ष की तरह ही विपक्ष को भी अपनी बात कहने का मौका दिया जाना चाहिए। लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। विपक्ष को अपनी बात रखने का अवसर नहीं दिया जा रहा।

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मैट्रो किराया बढ़ोतरी पर विधानसभा में आरोप-प्रत्यारोप, औचित्य अध्ययन के लिए नौ सदस्यीय समिति का प्रस्ताव पारित
2 अमित शाह के बेटे पर लगे आरोप के बचाव में उतरे राजनाथ, कहा- आरोप बेदम, जांच की जरूरत नहीं
3 जनता की जेब पर मेट्रो की मार
ये पढ़ा क्या?
X