ताज़ा खबर
 

कन्हैया कुमार का सरकार पर हमला- जेएनयू से 3000 कंडोम ढूंढ सकते हैं, लेकिन एक लापता स्टूडेंट को नहीं

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के नेता कन्हैया कुमार ने लापता छात्र नजीब अहमद का मुद्दा उठाकर सरकार पर निशाना साधा।

कन्हैया कुमार। PTI Photo/File

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के नेता कन्हैया कुमार ने लापता छात्र नजीब अहमद का मुद्दा उठाकर सरकार पर निशाना साधा। अपनी किताब ‘बिहार से तिहाड़ तक’ के लॉन्च पर कन्हैया कुमार ने कहा, ‘वे लोग इतने समझदार हैं कि जेएनयू में इस्तेमाल होने वाले कंडोम तो गिन सकते हैं लेकिन उस इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके इतने दिनों में नजीब को नहीं ढूंढ पाए।’ यह बात कन्हैया ने बीजेपी के विधायक ज्ञानदेव अहूजा के बयान को लेकर कही। दरअसल, अहूजा ने फरवरी में जेएनयू के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के दौरान कहा था, ‘जेएनयू में रोजाना सिगरेट के 10,000 और बीड़ी के 4,000 जले हुए टुकड़े मिलते हैं। हड्डियों के छोटे-बड़े 50,000 टुकड़े, चिप्स-नमकीन के 2,000 पैकेट और 3,000 इस्तेमाल किए हुए कंडोम। वहां वे हमारी बहनों और बेटियों के साथ गलत करते हैं। वहां गर्भनिरोध के इस्तेमाल किए हुए 500 इंजेक्शन भी मिले।’

वीडियो: लापता चल रहे जेएनयू छात्र नजीब अहमद के मां और रिश्‍तेदारों को पुलिस ने ऐसे हिरासत में लिया था

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15445 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹3750 Cashback

बता दें, स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र नजीब अहमद शनिवार (15 अक्टूबर) से कथित तौर पर लापता है। उसका लापता होने से एक रात पहले कैंपस में उसका झगड़ा हुआ था। छात्र के अभिभावकों से मिली शिकायत के बाद वसंत कुंज उत्तर थाना में कल एक व्यक्ति के अपहरण और गलत तरीके से कैद कर रखने को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई। जेएनयू के ही एक छात्र ने दावा किया था कि जब विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की कुछ एबीवीपी समर्थकों के साथ कथित झड़प हुई थी, उस समय उसकी हत्या का प्रयास किया गया था। हालांकि एबीवीपी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था।

नजीब के लिए जेएनयू समेत अन्य यूनिवर्सिटी के लोग भी प्रदर्शन कर रहे हैं। हाल में इंडिया गेट पर प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स समेत नजीब की मां को भी पुलिस ने पकड़ लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App