ताज़ा खबर
 

JNU के लापता छात्र की मां को मिला पत्र, लिखा था- मैंने नजीब को अलीगढ़ की मार्केट में देखा

दिल्ली पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम को एक रहस्यमय पत्र मिला। पत्र में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) से लापता छात्र नजीब अहमद को अलीगढ़ में देखने का दावा किया गया।

najeeb jnu, najeeb jnu Student, najeeb ahmad case, najeeb ahmad jnu, rajya Sabha najeeb ahmad, najeeb ahmad news, najeeb ahmad latest newsजेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस। (फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम को एक रहस्यमय पत्र मिला। पत्र में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) से लापता छात्र नजीब अहमद को अलीगढ़ में देखने का दावा किया गया। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, 14 नवंबर को JNU के माही-मांडली हॉस्टल में एक लेटर आया। वह लेटर हॉस्टल के अध्यक्ष अजीम को मिला। अजीम ने वह पत्र नजीब की मां फातिमा नफीस को दे दिया। फातिमा उस पत्र को लेकर क्राइम ब्रांच में पहुंची थीं। लेटर किसी महिला द्वारा लिखा गया था। उसमें लिखा था कि उसने नजीब को अलीगढ़ की एक मार्केट में घूमता देखा। महिला ने आगे लिखा कि उसकी नजीब से बात भी हुई थी। महिला ने लिखा कि नजीब ने उसे बताया कि उसे कहीं पर कैद में रखा गया था लेकिन वह किसी तरह छूटकर भाग आया। लेकिन तबतक वह उसकी मदद कर पाती तबतक वह वहां से निकल गया और दोबारा नहीं मिला। महिला ने लिखा कि शायद वह कहीं और छिप गया होगा या फिर कोई फिर से उसे उठाकर ले गया होगा। महिला ने अपने पता ङी दिया था। लेकिन जब क्राइम ब्रांच की टीम बताए गए एड्रेस पर पुहंची तो वहां पर कोई नहीं मिला।

लेटर में किसी तरह की फिरौती का जिक्र नहीं था। ना ही यह लिखा गया कि अज्ञात लोग नजीब को पकड़कर कहां लेकर गए होंगे। अब क्राइम ब्रांच ने कोरियर एजेंसी को उस जगह का पता देने को कहा जहां से उस पत्र को डिसपैच दिया गया था। इसके अलावा लेटर को फोरेंसिक जांच के लिए भी भेजा जा सकता है। वहां उसकी हेंडराइटिंग को मिलान किया जा सकता है।

बता दें स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र नजीब अहमद शनिवार (15 अक्टूबर) से कथित तौर पर लापता है। उसका लापता होने से एक रात पहले कैंपस में उसका झगड़ा हुआ था। जेएनयू के ही एक छात्र ने दावा किया था कि जब विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की कुछ एबीवीपी समर्थकों के साथ कथित झड़प हुई थी, उस समय उसकी हत्या का प्रयास किया गया था। हालांकि एबीवीपी ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था। नजीब की जानकारी देने वाले को पुलिस 5 लाख रुपए देने का ऐलान कर जुकी है।

Next Stories
1 पुलिस कंट्रोल रूम में आई नरेंद्र मोदी के मर्डर की साजिश की कॉल, दो हिरासत में
2 अब भी कतार में कर रहे अपनी बारी का इंतजार
3 31 दिसंबर तक चलने दें पुराने नोट: योगेंद्र यादव
ये पढ़ा क्या?
X