ताज़ा खबर
 

कहीं पिता बने रावण तो पुत्र बना हनुमान, कई रामलीलाओं में बिना पैसे लिए अभिनय कर रहे हैं कई परिवार

कई इलाकों में होने वाली इन रामलीलाओं में एक ही परिवार के कई लोग अलग-अलग भूमिकाएं निभा रहे हैं।

रामलीला मंचन की एक तस्वीर। (Photo Source: Indian Express Archive)

राजधानी में इन दिनों हर तरफ रामलीला की रौनक है। कई इलाकों में होने वाली इन रामलीलाओं में एक ही परिवार के कई लोग अलग-अलग भूमिकाएं निभा रहे हैं। कहीं पिता रावण तो पुत्र हनुमान बना है, बेटी सीता बनी है तो मां कैकेयी। इन लीलाओं में बरसों से राजधानी के कई परिवारों के लोग विभिन्न किरदार अदा करते आ रहे हैं। ये लोग लीला शुरू होने के करीब एक महीने पहले ही अपनी भूमिका की तैयारी शुरू कर देते हैं। वैसे इन दिनों देश की राजनीति से जुड़े कई नेता भी विभिन्न लीलाओं में मंच पर कोई न कोई किरदार अदा कर रहे हैं। दिल्ली की रामलीलाएं देश की गंगा-जमुनी तहजीब को और भी प्रगाढ़ कर रही हैं। इसमें भगवान राम के भाई लक्ष्मण के साथ अन्य भूमिकाओं में दूसरे धर्म के कलाकार भी हैं।

अशोक विहार स्थित आदर्श रामलीला कमेटी, फेज-2 में बरसों से लीला का मंचन हो रहा है। इस लीला में मधुसूदन शर्मा कई साल से रावण का पात्र निभा रहे हैं। वे नई दिल्ली नगर पालिका परिषद में इंस्पेक्टर हैं। उनका बेटा नीतीश पेशे से लेक्चरर है, जो इस बार लीला में हनुमान की भूमिका निभा रहा है। मधुसूदन के दामाद चतुर्वेदी भी इसी लीला में अंगद की भूमिका में हैं। मधुसूदन का कहना है कि वे और उनका परिवार इस लीला में अभिनय करने के लिए कोई भी राशि नहीं लेते हैं। वे कहते हैं कि बेशक वे लीला में रावण की भूमिका अदा कर रहे हैं, लेकिन इन दिनों उनका पूरा परिवार राममय हो जाता है, और वे लोग रोजाना अपने किरदार की तैयारी करते हैं। इस लीला के आयोजक मांगे राम गर्ग का कहना है कि वे हर साल कोशिश करते हैं, कि अभिनय में रुचि रखने वाले, परिवारों के लोग लीला में कोई न कोई भूमिका निभाएं।

इसी तरह अशोक विहार की फेज-1 में होने वाली आदर्श रामलीला में भी एक ही परिवार से जुड़े लोग अभिनय कर रहे हैं। इस लीला में रावण की भूमिका अभिनव और कुंभकर्ण की भूमिका उनके भाई अभिषेक निभा रहे हैं। इसी लीला में पंवार परिवार के तीन सदस्य किसी न किसी तरह से जुड़े हुए हैं। जुगल पंवार दशरथ की भूमिका अदा कर रहे हैं, और उनकी पत्नी अनिता कैकेयी की भूमिका में हैं। जुगल के छोटे भाई सोमनाथ लीला में निदेशक की भूमिका में हैं। लाल किले में नवश्री धार्मिक लीला कमेटी की रामलीला में कुंभकर्ण की भूमिका मुजीबुर रहमान निभा रहे हैं। थिएटर अभिनेता मुजीबुर रहमान पिछले कई साल से रामलीला से जुड़े हैं। लक्ष्मीनगर के रहने वाले मुजीबुर ने श्रीराम सेंटर से अभिनय सीखा है। साथ ही वे राष्टÑीय नाट्य विद्यालय से भी जुड़े हैं। वे बताते हैं कि रामलीला में काम करने के दौरान वे यह भी जानने में लगे हैं कि राम किन कारणों से सभी के दिल में बसे हैं। उनका सपना है कि एक दिन वह रामलीला में राम की भूमिका निभाएं। कश्मीरी गेट की श्री नवयुवक रामलीला कमेटी में सादिक बीते 16 साल से लक्ष्मण की भूमिका निभा रहे हैं। वैसे उन्हें लीला में अभिनय करते हुए करीब 25 साल हो गए हैं। सादिकजब छह साल के थे, तभी से वह रामलीला में विभिन्न पात्रों को निभाते आ रहे हैं। उम्र के साथ रामलीला में उनकी भूमिकाएं बदलती गर्इं। अब वह बीते 16 साल से लक्ष्मण की भूमिका निभा रहे हैं। उनका भी सपना है कि वे एक दिन राम की भूमिका निभाएं। कश्मीरी गेट में रहने वाले सादिक एक निजी कंपनी में अकाउंटेंट हैं।

चांदनी चौक स्थित नवश्री धार्मिक लीला कमेटी से शैलेंद्र का परिवार बरसों से जुड़ा है। शैलेंद्र मेकअप आर्टिस्ट हैं। वे लीला के विभिन्न पात्रों का मेकअप करते हैं। शैलेंद्र की बेटी चांदनी इस लीला में सीता की भूमिका निभा रही हैं। चांदनी ने अंग्रेजी आॅनर्स में पढ़ाई की है। उनकी माता सपना कौशल्या की भूमिका मेंं हैं। शैलेंद्र बताते हैं कि उनका परिवार बरसों से इस लीला से जुड़ा हुआ है।

 

Next Stories
1 30 फुट ऊंचा हो चुका है दूसरा पहाड़, गाजीपुर हादसे के बाद भी नहीं चेता निगम
2 केजरीवाल सरकार के नक्शेकदम पर चल रही केंद्र सरकार: आप
3 बीएचयू की छात्राओं के समर्थन में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन जारी, कुलपति को हटाने की मांग पर अड़े लोग
यह पढ़ा क्या?
X