ताज़ा खबर
 

टैक्‍स चोरी में फंसे दिल्‍ली के मंत्री कैलाश गहलोत, रेड में मिले 35 लाख नकद और बेनामी संपत्ति के कागज

कैबिनेट मिनिस्टर के खिलाफ जांच में करीब 100 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी का खुलासा हुआ है। इससे पहले आयकर विभाग ने गहलोत और उनके परिवार के सदस्यों के दिल्ली और गुरुग्राम स्थित 16 आवासों और अन्य ठिकानों पर बुधवार को छापेमारी की थी।

Author October 13, 2018 2:46 PM
दिल्ली कैबिनेट मिनिस्टर कैलाश गहलोत की फाइल फोटो।

आयकर विभाग ने दिल्ली कैबिनेट मंत्री कैलाश गहलोत के यहां रेड मारकर 35 लाख रुपए नगद बरामद किए हैं। इसके अलावा सवा दो करोड़ रुपए के जेवरात भी बरामद किए हैं। खबर यह भी है कि कैबिनेट मिनिस्टर के खिलाफ जांच में करीब 100 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी का खुलासा हुआ है। बता दें कि इससे पहले आयकर विभाग ने गहलोत और उनके परिवार के सदस्यों के दिल्ली और गुरुग्राम स्थित 16 आवासों और अन्य ठिकानों पर बुधवार को छापेमारी की थी। आयकर विभाग की प्रवक्ता शुभी आहलूवालिया ने बताया, “यह छापेमारी ब्रिस्क इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलेपर प्राइवेट लिमिटेड और कॉर्पोरेट इंटरनेशनल फाइंनेशियल सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड पर हुई है, जिसे गहलोत और उनके परिवार के लोग चलाते हैं।”

गहलोत दिल्ली सरकार में परिवहन, कानून, राजस्व, सूचना प्रौद्योगिकी व प्रशासनिक सुधार विभाग संभालते हैं। आयकर की छापेमारी वसंत कुंज, पश्चिम विहार, नजफगढ़ और गुरुग्राम सहित विभिन्न स्थानों पर हुई। आम आदमी पार्टी ने छापेमारी की प्रक्रिया को राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंदी में ट्वीट करते हुए कहा, “नीरव मोदी, माल्या से दोस्ती और हम पर रेड? मोदी जी, आपने मुझपे, सत्येंद्र पर और मनीष पर भी तो रेड करवाई थीं? उनका क्या हुआ? कुछ मिला? नहीं मिला? तो अगली रेड करने से पहले दिल्ली वालों से उनकी चुनी सरकार को निरंतर परेशान करने के लिए माफी तो मांग लीजिए?।”

पार्टी ने कहा कि जब वे दिल्ली के लोगों के लिए काम करने में व्यस्त थे तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली सरकार के मंत्रियों और नेताओं के घरों पर छापे डाल रही थी। पार्टी ने ट्वीट कर कहा, “राजनीतिक प्रतिशोध जारी है.. हम लोगों को सस्ती बिजली मुफ्त पानी और अच्छी स्वास्थ्य व शिक्षा सेवाएं दे रहे हैं। सरकारी सेवाएं घर-घर तक पहुंचा रहे हैं। वे सीबीआई, ईडी को हमारे मंत्रियों व नेताओं के घर छापे पड़वा रहे हैं। जनता सब कुछ देख रही है और 2019 में सारा जवाब एक साथ करेगी।” (जनसत्ता ऑनलाइन इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App