X

नीरव की बहन को रेड कार्नर नोटिस जारी

इंटरपोल ने पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी आभूषण कारोबारी नीरव मोदी की बहन और बेल्जियम की नागरिक पूर्वी मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी किया है।

इंटरपोल ने पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी आभूषण कारोबारी नीरव मोदी की बहन और बेल्जियम की नागरिक पूर्वी मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) के साथ मामले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्वी मोदी पर घोटाले की रकम के धनशोधन में बड़ी भूमिका होने और कम से कम 13.3 करोड़ डॉलर (950 करोड़ रुपए से ज्यादा) का ‘लाभार्थी’ होने का आरोप लगाया है। रेड कार्नर नोटिस में कहा गया है कि ‘धनशोधन’ के आरोपों में पूर्वी दीपक मोदी (44) की तलाश की जा रही है।

ईडी ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा कि वह कई छद्म या निवेश कंपनियों की मालिक / निदेशक भी हैं। इन कंपनियों को संयुक्त अरब अमीरात, ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड्स और सिंगापुर स्थित कंपनियों में निवेश कर काले धन को सफेद करने के मकसद से बनाया गया। प्रवर्तन निदेशालय ने मई में मुंबई की एक अदालत के सामने पहले आरोपपत्र में आरोपी के तौर पर उसका नाम शामिल किया। ईडी के मुताबिक धनशोधन से जुड़े मोंटेक्रिस्टो ट्रस्ट, इताका ट्रस्ट, न्यूजीलैंड ट्रस्ट जैसे ट्रस्ट को पूर्वी मोदी से जुड़ा हुआ पाया गया। बारबडोस, मॉरिशस, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर, ब्रिटेन और हांगकांग जैसे विदेशी क्षेत्र में उनके और उनकी कपंनियों के नाम से बैंक खाते खोले गए। बाद में इन कंपनियों से उनका नाम हटा दिया गया।

भाई को भारत लाने की कवायद : सीबीआइ ने नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी को भारत प्रत्यर्पित करने की कार्यवाही शुरू की है। यह अनुरोध गृह मंत्रालय को भेजा गया है। गृह मंत्रालय अब विदेश मंत्रालय के जरिए बेल्जियम को यह अनुरोध भेजेगा। भारत की बेल्जियम के साथ प्रत्यर्पण संधि है। सीबीआइ ने जानकारी जुटाई है कि निशाल मोदी बेल्जियम में रह रहा है। निशाल मोदी के खिलाफ सीबीआइ के अनुरोध पर इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जा चुका है।