ताज़ा खबर
 

दिल्ली: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर फेंकी गई स्याही

सिसोदिया ने कहा कि यह घटना ‘भाजपा और कांग्रेस की गंदी राजनीति’ का प्रतिबिंब है।

Author September 20, 2016 2:19 AM
आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने घटना के लिए सीधे-सीधे उपराज्यपाल को जिम्मेवार ठहराया।

फिनलैंड दौरे से लौटने के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सोमवार को उपराज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात कर बाहर निकले ही थे कि एक शख्स ने उन पर स्याही फेंक दी। उस शख्स के मुताबिक वह उपमुख्यमंत्री के उस वक्त किए विदेश दौरे से नाराज था जब राजधानी डेंगू चिकनगुनिया के चपेट में है। बृजेश शुक्ल नाम के इस शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मनीष सिसोदिया ने इस घटना को विपक्ष की गंदी राजनीति बताया है। वहीं विपक्ष ने घटना की निंदा की है। लेकिन साथ ही आरोप लगाया है कि राजनीति में इस तरह के विरोध के तरीकों को मान्यता केजरीवाल की पार्टी ने ही दी।
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया रविवार रात को विवादों से भरे फिनलैंड दौरे से वापस लौटे थे।

हालांकि, उपराज्यपाल नजीब जंग ने उन्हें दौरा रद्द कर शनिवार को ही देश लौटने के लिए कहा था। उपमुख्यमंत्री ने दौरा तो बीच में रद्द नहीं किया लेकिन वापस आते ही सोमवार को नजीब जंग से मिलने गए। मुलाकात कर सिसोदिया उपराज्यपाल कार्यालय से बाहर मीडिया को संबोधित कर अपनी कार में बैठने ही वाले थे जब बृजेश शुक्ल नाम के व्यक्ति ने उनपर स्याही फेंकी। स्याही के कुछ छींटे उनके सिर पर, कुछ शर्ट पर और बाजुओं पर लगे।  स्याही फेंकने वाले शख्स बृजेश शुक्ल को पुलिस ने तुरंत गिरफ्तार कर लिया। उत्तरी जिला के पुलिस आयुक्त मधुर वर्मा ने कहा, ‘शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है और पूछताछ की जा रही है।’ 35-36 साल का यह शख्स करावल नगर का रहने वाला है। वह स्वराज जनता पार्टी नामक संस्था का संस्थापक सदस्य बताया जा रहा है।

हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए सिसोदिया ने कहा कि यह घटना ‘भाजपा और कांग्रेस की गंदी राजनीति’ का प्रतिबिंब है। मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘दिल्ली सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा की दिशा में काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है। लेकिन कांग्रेस और भाजपा स्याही पर काम कर रही है। उनका दिल्लीवालों से कोई लेना-देना नहीं है। उनका लक्ष्य केवल हमारे कदमों को रोकना है। यह भाजपा और कांगे्रस की गंदी राजनीति है।’ उन्होंने भाजपा शासित नगर निकायों को ‘शहर में फैली गंदगी’ साफ करने की चुनौती दी और कांग्रेस की अलोचना करते हुए कहा कि उसने अपने कार्यकाल के दौरान राजधानी में शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों को ‘बर्बाद’ कर दिया। सिसोदिया ने कहा, ‘हम विकास पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं इसलिए वे ध्यान भटकाने के लिए ऐसे हथकंडे अपना रहे हैं।’

वहीं आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने घटना के लिए सीधे-सीधे उपराज्यपाल को जिम्मेवार ठहराया। दिलीप पांड ने एक ट्वीट कर कहा, ‘वाह एलजी साब, एसीबी, सीबीआइ, पुलिस तो लगाई ही थी, अब गुंडों से स्याही फिकवाने का भी काम शुरू कर दिया है, वैसे इस स्याही का सही इस्तेमाल हमें आता है।’
विपक्षी दलों ने घटना की निंदा की है, लेकिन साथ ही केजरीवाल सरकार के कामकाज पर भी उंगली उठाया और कहा कि लोगों के गुस्से को कहीं न कहीं संज्ञान में लेना होगा। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा, ‘भाजपा उपमुख्यमंत्री पर स्याही फेंके जाने की घटना की निंदा करती है, लेकिन राजनीति में इस तरह के घटिया विरोध के तरीकों को मान्यता केजरीवाल दल ने जनरैल सिंह को विधायक बनाकर दी।’ उन्होंने यह भी सवाल किया कि इस प्रकार की घटनाएं आम आदमी पार्टी नेताओं के साथ तब ही क्यों होती हैं जब वह राजनीतिक कटघरे में होते हैं। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि उनकी पार्टी इस तरह की घटनाओं के खिलाफ है, लेकिन जिस तरह से शहर में बीमारियां फैली हैं वैसे में लोगों का गुस्सा जायज है, ऐसे में सरकार को गुस्से को संज्ञान में लेना चाहिए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App