ताज़ा खबर
 

भारत ने पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन की कड़ी निंदा की

भारत ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की कड़ी निंदा की है।

Author नई दिल्ली | January 19, 2018 11:58 PM
(File PHOTO)

भारत ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, “हम कड़ाई से पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की निंदा करते हैं, जिसमें लोगों की जिंदगी और संपत्ति का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा, “घटना में हताहत हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं। कुमार ने कहा, “आपको पता होगा कि पाकिस्तान सीमा पर आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए लगातार संघर्ष विराम उल्लंघन कर रहा है। हमने भी ऐसे मामलों का जोरदार जवाब दिया है और इस मामले को पाकिस्तान की तरफ सही स्तर पर उठाया गया है।

इससे पहले जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर शुक्रवार को पाकिस्तानी रेंजरों की अंधाधुंध गोलाबारी व गोलीबारी में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का एक जवान शहीद हो गया। दो नागरिक भी मारे गए, जबकि तीन अन्य घायल हुए हैं। पुलिस ने कहा कि सांबा जिले में बीएसएफ के हेड कांस्टेबल जगपाल सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में उन्होंने दम तोड़ दिया। जम्मू जिले के आर.एस. पुरा सेक्टर के अर्निया में नागरिकों और सैन्य ठिकानों को निशाना बना कर की गई पाकिस्तानी गोलाबारी और गोलीबारी में दो नागरिक भी मारे गए और तीन अन्य घायल हो गए। घायल नागरिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजरों ने शुक्रवार को जम्मू, सांबा और कठुआ में अंतर्राष्ट्रीय सीमा के साथ लगी बीएसएफ की 20 चौकियों पर अंधाधुंध गोलीबारी और गोलाबारी की। एक पुलिस सूत्र ने कहा, “गोलीबारी व गोलाबारी सुबह 6.40 बजे शुरू हुई और चार घंटे से ज्यादा समय तक चलती रही। भारतीय सेना ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। प्रशासन ने अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास के इलाकों में स्थित सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। खबरों में कहा गया है कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे तीन जिलों के गांवों के निवासियों में दहशत का माहौल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App