ताज़ा खबर
 

कांग्रेसी मंत्री के दिल्‍ली स्थित आवास पर IT रेड जारी, एक दिन पहले बरामद हुए थे 10 करोड़

बेंगलुरू से 30 किलोमीटर दूर बिदादी में ईगल्टन गोल्फ रिसॉर्ट पर भी छापेमारी की गई थी, जहां 29 जुलाई से गुजरात के 44 विधायक ठहरे हुए हैं।

Author August 3, 2017 1:21 PM
लगातार दूसरे दिन भी कई ठिकानों पर छापेमारी जारी रही। आयकर अधिकारियों ने कई दस्तावेज, अकाउंट बुक्स और वित्तीय कागजात बरामद किए। (Photo: IANS)

कर्नाटक के बिजली मंत्री डी.के. शिवकुमार के नई दिल्ली स्थित आवासों पर आयकर विभाग की छापेमारी गुरुवार को भी जारी है। आईटी अधिकारियों के मुताबिक, सफदरजंग एन्क्लेव और आर.के. पुरम स्थित चार स्थानों पर छापेमारी की गई। आईटी अधिकारियों ने शिवकुमार के निजी सचिव के आवास पर भी छापेमारी की। इससे पहले आयकर ने बुधवारकर चोरी के एक मामले में डीके शिवकुमार से संबंधित दिल्ली में 39 स्थानों पर छापेमारी की थी और 10 करोड़ रुपये बरामद किए गए थे।

बेंगलुरू से 30 किलोमीटर दूर बिदादी में ईगल्टन गोल्फ रिसॉर्ट पर भी छापेमारी की गई थी, जहां 29 जुलाई से गुजरात के 44 विधायक ठहरे हुए हैं। शिवकुमार के सहायक और उनके ड्राइवर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

शिवकुमार बेंगलूरू के पास स्थित एक रिजॉर्ट में गुजरात के 44 विधायकों के ठहरने की व्यवस्था का प्रभार देख रहे थे। आयकर विभाग के अधिकारियों ने कहा कि मंत्री से संबंधित विभिन्न संपत्तियों पर छापेमारी के दौरान बुधवार तक नौ करोड़ रुपये की नकदी बरामद हुई है। आयकर विभाग की टीम मंत्री को रिजॉर्ट से बेंगलूरू स्थित उनके घर ले गई है। बरामद नकदी को गिनने के लिए दिल्ली के सफदरजंग एंक्लेव, कर्नाटक के हासन और मैसूरू स्थित परिसरों में नोट गिनने की मशीनें मंगाई गई हैं।

सुबह के समय की गई छापेमारी से संबंधित जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने कहा कि आयकर विभाग के लोग मंत्री से पूछताछ करने ईगल्टन रिजॉर्ट पहुंचे जो रात से रिजॉर्ट में ठहरे हुए थे। आयकर अधिकारियों ने कहा कि रिजॉर्ट में रखे गए 44 विधायकों से संबंधित व्यवस्थाओं का प्रभार देख रहे मंत्री छापेमारी के समय रिजॉर्ट में ही मौजूद थे। कांग्रेस ने भाजपा को अपने इन विधायकों को तोड़ने से रोकने के लिए कनार्टक के इस रिजॉर्ट में रखा है। रिजॉर्ट पर छापेमारी को लेकर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। वहीं, आयकर विभाग के अधिकारियों ने कहा कि रिजॉर्ट पर छापेमारी नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि रिजॉर्ट में केवल मंत्री के कमरे की ‘‘तलाशी’’ ली गई, न कि गुजरात के विधायकों के कमरे की।

विभाग चुनावों में धन बल के कथित इस्तेमाल और बड़े पैमाने पर धन के अवैध लेनदेन के आरोपों की भी जांच कर रहा है। आयकर विभाग ने कहा कि छापे मारने के समय के बारे में पहले ही निर्णय ले लिया गया था। विभाग ने एक बयान में कहा, ‘‘यह तलाशी उस जांच के संबंध में की गई है जो काफी समय से जारी है। तलाशी लिए जाने के समय के संबंध में पहले ही निर्णय ले लिया गया था।’’ बयान में कहा गया, ‘‘किसी अन्य राज्य के विधायकों को कर्नाटक लाए जाने संबंधी कार्यक्रम अप्रत्याशित थे।’’

आयकर विभाग ने कहा, ‘‘आयकर कानून की धारा 132 के तहत ली गई यह तलाशी सबूत एकत्र करने की कवायद है जो सभी वैधानिक आवश्यकताओं के अनुरूप की जा रही है।’’ अधिकारियों ने कहा कि आयकर विभाग ने कुछ समय पहले राज्य के एक नेता के यहां की गई छपेमारी के दौरान एक डायरी और कुछ दस्तावेज जब्त किए थे और ताजा कार्रवाई मिली जानकारी के आधार की गई कार्रवाई भी है।

देखिए वीडियो - कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों पर छापा, मिला 5 करोड़ नकद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App