ताज़ा खबर
 

दिल्ली: स्वीमिंग पूल में डूबने से युवा आइएएस की मौत

हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले 30 साल के आशीष दहिया 2016 में चयनित हुए थे।

Author नई दिल्ली | Published on: May 31, 2017 12:37 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

दक्षिणी दिल्ली के बेरसराय इलाके में साथी महिला अधिकारी को स्विमिंग पूल में डूबने से बचाने की कोशिश में एक युवा प्रशिक्षु भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस) अधिकारी की मौत हो गई। हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले 30 साल के आशीष दहिया 2016 में चयनित हुए थे। सोमवार शाम को भारतीय विदेश सेवा (आइएफएस) और भारतीय राजस्व सेवा (आइआरएस) के प्रशिक्षु अपने साथी अधिकारियों से मिलने बेरसराय स्थित फारेन सर्विस इंस्टीट्यूट में आए थे। वहां इन लोगों ने देर रात तक स्विमिंग पूल के किनारे पार्टी की और फिर पानी में उतर गए। पुलिस को मौके पर मिले सबूतों से पता चला है कि पार्टी के दौरान इन अधिकारियों ने शराब पी थी। पुलिस को दिए बयान में एक चश्मदीद ने बताया है कि एक महिला अधिकारी अचानक फिसलकर पूल में गिर पड़ी। उसे आशीष दहिया सहित कई अधिकारियों ने बचाने की कोशिश की। महिला अधिकारी को तो सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया, लेकिन तभी सभी का ध्यान इस तरफ गया कि आशीष कहीं नहीं दिख रहा है। लेकिन जल्द ही आशीष पानी की सतह पर नजर आ गया। उसे बाहर निकालकर स्टेशन मेडिकल आॅफिसर डॉ प्रम्येश बसाल को बुलाया गया।

आशीष को तुरंत फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया जहां उसे रात 12.50 बजे मृत घोषित कर दिया गया।पुलिस ने शव को एम्स में रखवाने के बाद आशीष के परिजनों को तुरंत सूचना दे दी। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम साक्ष्य जमा कर रही है। वहां मौजूद अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। मृतक के घर वाले दिल्ली पहुंच गए हैं। दिल्ली सरकार ने भी मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत के असली कारणों का पता चलेगा।  2016 बैच के आइएएस आशीष दहिया यहां पर अपने दोस्त अभिमन्यु गहलोत से मिलने के लिए आए थे। अभिमन्यु आइएफएस अफसर हैं। मूल रूप से सोनीपत निवासी आशीष ने हाल ही में पूरी हुई आइएएस की ट्रेनिंग में स्वर्ण पदक हासिल किया था। ट्रेनिंग खत्म होने के बाद दहिया को 31 मई को जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में पद भार ग्रहण करना था।

15 मई को ही आशीष दहिया ने स्वर्ण पदक मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा था कि यह पदक मैं अपने सभी दोस्तों को समर्पित करता हूं जिन्होंने मेरी परीक्षा के दौरान नोट्स तैयार करने और पढ़ाई में मदद की है। मेरी पत्नी प्रज्ञा दीक्षित और मेरे दोस्त जब भी मेरे साथ होते हैं, मेरे जीवन में अच्छा होता है। 15 जनवरी 1986 को सोनीपत के खारखोडा में पैदा हुए आशीष दहिया ने कुरुक्षेत्र से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी। ट्रेनी आइएएस से पहले आशीष ने साल 2012 में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा परीक्षा में 8वीं रैंक प्राप्त की थी और बतौर डीएसपी सिरमौर में पद संभाला था। पढ़ाई में शुरू से ही अव्वल रहे आशीष को एडवेंचर बहुत पसंद था। पिता नरेंद्र दहिया कृषि विभाग के रिटायर्ड अधिकारी हैं। उनकीमां सरकारी शिक्षक थीं। उनकी पत्नी भी आइएएस की तैयारी कर रही हैं। आशीष दहिया ने पहली से दसवीं तक की शिक्षा सोनीपत के लिटिल एंजेल स्कूल से प्राप्त की और 2003 में सोनीपत के हिंदू विद्यापीठ से बारहवीं तक पढ़े।

 

अपने गुस्साए ट्वीट के बारे में आखिर सुशांत ने क्या कहा?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली में आईएफएस ट्रेनी की स्वीमिंग पूल में डूबने से मौत, महिला साथी को बचाने में गई जान
2 युवक ने चिढ़ाने पर काटा गला
3 डीसीडब्लू की मदद से विवाहिता को मिली ससुराल में जगह