ताज़ा खबर
 

आठ महीने की मृत बेटी को गोद में लिए मेट्रो से अस्‍पताल और फि‍र थाने पहुंची गैंगरेप पीड़ित महिला

पीड़िता ने पहले एक ट्रक में लिफ्ट ली थी लेकिन ड्राइवर के शराब पिए होने कारण वो उससे उतर गई थी।

आरोपी अपनी नाबालिग चचेरी बहन के साथ 8 महीने तक दुष्कर्म करता रहा। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गुरुग्राम में ऑटो में महिला के संग तीन लोगों द्वारा कथित तौर पर बलात्कार और उसकी आठ महीने की बच्ची की हत्या करने के मामले में एक और हृदय विदारक जानकारी सामने आई है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार 19 वर्षीय पीड़ित महिला को कथित बलात्कार के बाद अपनी मरी हुई बच्ची को गोद में लेकर मेट्रो से सफर करना पड़ा। महिला द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार उसके संग गुरुग्राम के मानेसर में ऑटो चालक और दो अन्य सवार ने मिलकर 29-30 मई की रात को बलात्कार किया। 30 मई की सुबह महिला दिल्ली मेट्रो की येलो और वायलेट लाइन से सफर करके अपने मां-बाप के घर पहुंची।

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार रात को करीब दो बजे उसके संग रेप करने वाले उसे और उसकी बच्ची को सड़क पर छोड़कर चले गए। बलात्कार और हत्या के आरोपियों के जाने के बाद महिला ऑटो से ओल्ड गुरुग्राम स्थित अपने ससुराल पहुंची। स्थानीय डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। महिला को डॉक्टर पर यकीन नहीं हुआ। महिला अपने ससुर को लेकर तुगलकाबाद स्थित अपने माता-पिता के घर जाने के लिए निकली। दिल्ली मेट्रो से तुगलकाबाद पहुंचकर महिला ने बच्ची को दूसरे डॉक्टर को दिखाया। दूसरे डॉक्टर ने भी बच्ची को मृत घोषित किया।

डॉक्टर द्वारा मौत की पुष्टि किए जाने के बाद महिला मेट्रो से ही गुरुग्राम वापस आई ताकि पुलिस में शिकायत दर्ज करा सके। महिला ने गुरुग्राम के एमजी रोड स्टेशन में बलात्कार और हत्या की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस के अनुसार महिला ने पहले आईएमटी मानेसर के नजदीक एक ट्रक ड्राइवर से लिफ्ट ली लेकिन चूंकि ड्राइवर ने शराब पी रखी थी इसलिए वो खेड़की दौला टोल प्लाजा के पास उतर गई। उसके बाद महिला शेयरिंग ऑटो में सवार हुई थी जिसके बाद ये हादसा हुआ। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। इस मामले में अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

वीडियो- टॉप 5 हेडलाइंस- लालू ने किया मोदी पर हमला, योगी राज में नहीं थम रहे वारदात और अन्य खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App