ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव 2017: आज से बंद हो सकती है नई स्‍कीम की घोषणा, उद्घाटन, होंगे केवल चुनावी वादे

Gujarat Assembly Election/Chunav 2017 Date: गुजरात और हिमाचल प्रदेश दोनों राज्यों के विधान सभा चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (बाएं) और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

भारतीय निर्वाचन आयोग बुधवार (25 अक्टूबर) को गुजरात विधान सभा चुनाव के लिए मतदान की तारीख की घोषणा कर सकता है। चुनाव आयोग ने 12 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव की तारीख की घोषणा की थी। दोनों राज्यों के मतदान के नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे। समाचार चैनल टाइम्स नाउ ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि गुजरात में दो चरणों में नौ दिसंबर और 13 दिसंबर को मतदान हो सकता है। चुनाव आयोग की इस बात के लिए काफी आलोचना हो रही थी कि उसने हिमाचल प्रदेश में मतदान की तारीख के साथ ही गुजरात चुनाव की तारीख नहीं बताई। हालांकि चुनाव आयोग ने उसी दिन साफ कर दिया था कि दोनों राज्यों के चुनावों के नतीजे एक साथ 18 दिसंबर को आएंगे। हिमाचल प्रदेश में नौ नवंबर को मतदान होना है।

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिंदबरम ने आरोप लगाया था चुनाव आयोग बीजेपी से इजाजत मिलने के बाद ही मतदान की तारीख की घोषणा करेगा। चुनाव आयोग पर आरोप लगाया जा रहा था कि उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम विजय रूपानी द्वारा लोकलुभावनी घोषणाएं करने की खातिर तारीख की घोषणा नहीं की। मतदान की तारीख की घोषणा होते ही राज्य में चुनावी आचार संहिता लागू हो जाती है। राज्य सरकार या केंद्र सरकार मतदाताओं को प्रभावित करने वाली योजनाओं की घोषणा नहीं कर सकती। चुनाव का दौरान केवल आने वाली सरकार से जुड़े वादे किए जा सकते हैं। गुजरात में पिछले दो दशकों से लगातार बीजेपी की सरकार है।

गुजरात में विधान सभा की कुल 182 सीटें हैं। वहीं हिमाचल प्रदेश में कुल 68 सीटें हैं। जहां गुजरात में बीजेपी सत्ता में है तो वहीं हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस। दोनों ही राज्यों में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही है। हालांकि गुजरात चुनाव में आम आदमी पार्टी भी अपनी ताकत आजमाने जा रही है। गुजरात में बीेजपी मौजूदा सीएम सीएम विजय रूपानी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है। रूपानी को आनंदीबेन पटेल की जगह राज्य का सीएम बनाया गया था। नरेंद्र मोदी के देश के प्रधानमंत्री बन जाने के बाद आनंदीबेन को गुजरात का सीएम बनाया गया था लेकिन बेटे-बेटी के कारोबार से जुड़े आरोपों और पाटीदार और दलित आंदोलन को लेकर वो आलोनचाओं से घिर गई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App