ताज़ा खबर
 

दिल्ली: 70 लाख रुपए की नगदी के साथ फरार गार्ड गिरफ्तार

मियांवाली नगर से 70 लाख रुपए लेकर फरार हुए निजी कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड को पुलिस ने साथी सहित गिरफ्तार कर लिया है।

Author नई दिल्ली | April 11, 2017 3:13 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मियांवाली नगर से 70 लाख रुपए लेकर फरार हुए निजी कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड को पुलिस ने साथी सहित गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि इस साजिश में वैन का ड्राइवर भी शामिल था, जिसने जान-बूझकर चाबी वैन में लगी छोड़ी थी। दोनों को गिरफ्तार करने के बाद 2513000 रुपए और चोरी के रुपयों से खरीदा गया एक एलसीडी टेलीविजन बरामद कर लिया है। पुलिस को शक है कि कुछ रकम आरोपियों ने नेपाल अपने रिश्तेदारों के पास भेजी है, जिसे बरामद करने के लिए पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं।
बाहरी जिला पुलिस उपायुक्त एमएन तिवारी ने बताया कि 30 मार्च को सूचना मिली कि मियांवाली नगर के पीरागढ़ी मेट्रो स्टेशन, उद्योगनगर औद्योगिक इलाके के पीछे डीडी मोटर्स के पास एक गाड़ी का ड्राइवर 70 लाख रुपए लेकर फरार हो गया है।

पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पता चला कि जिस मारुति इको वैन में रुपए थे वह लॉजिकैश प्राइवेट लिमिटेड, झंडेवालान की थी। यह कंपनी विभिन्न संस्थानों, शराब की दुकानों, एनडीपीएल आदि जगहों से रुपए जमा करने और फिर उन्हीं के खाते में डालने का काम करती है। बदले में कंपनी को कमीशन मिलता है। 30 मार्च सुबह 9.15 बजे वैन चालक साहिल खान और गनमैन जालिम सिंह कई जगहों से रुपए लेकर शाम सात बजे उद्योगनगर औद्योगिक इलाके में पहुंचे थे। वे फ्लिपकार्ट के दफ्तर गए थे। रुपयों से भरी वैन फ्लिपकार्ट दफ्तर के बाहर खड़ी कर 10-12 मिनट में जब ड्राइवर वापस आया तो वैन गायब थी। साथ गनमैन भी फरार था। कैशियर ने बताया कि वैन में 70 लाख रुपए बॉक्स में रखे हुए थे। कंपनी के विकास कुमार शर्मा की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई। कंपनी के पास मौजूद रिकॉर्ड में आरोपी सिक्योरिटी गार्ड का नाम फर्जी निकला। उसने इस वारदात की योजना बनाई और ड्राइवर को भी इसमें शामिल कर लिया।

दक्षिणी दिल्ली में नकाबपोशों ने 50 लाख लूटे

दक्षिणी दिल्ली के फतेहपुर बेरी में चार नकाबपोश बदमाशों ने एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के घर से 50 लाख रुपए नकद और कीमती सामान लूट लिया। आरोपियों ने घर के सुरक्षा गार्ड, नौकर और परिवार के सदस्यों को हथियार दिखाकर धमकाया और वारदात को अंजाम दिया। लुटेरे पीड़ित परिवार की कार भी लेकर भाग गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक वीके ढींगरा एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और अपनी पत्नी के साथ घर की पहली मंजिल पर रहते हैं। बाकी परिवार भूतल पर रहता है। इसी इलाके में उनका एक फार्महाउस भी है। शनिवार देर रात 3:00 बजे वारदात को अंजाम दिया गया। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वे सुरक्षा गार्ड के चिल्लाने की आवाज सुनकर सीढ़ियों से नीचे उतरे तो कोई दरवाजा खटखटा रहा था। यह देख परिवार के सदस्य डर गए और सभी भूतल के कमरे जमा हो गए। तभी लुटेरे दरवाजा तोड़कर घर में घुस गए। एक लुटेरा कमरे में रुककर परिवार को धारदार हथियार दिखाकर धमकाता रहा और बाकी लुटेरों ने लूट को अंजाम दिया।

 

पीएम मोदी ने यूपी के सांसदों से कहा- "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कोई सिफारिश न करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App