ताज़ा खबर
 

गायों के लिए मुफ्त चारा देगी केंद्र सरकार: जावड़ेकर

केंद्रीय वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि दूध देना बंद कर देने वाली गायों को बेचने से किसानों को रोकने के लिए सरकार गाय रखने वालों को मुफ्त चारा मुहैया कराने की योजना पर विचार कर रही है। राष्ट्रीय गोधन महासंघ द्वारा केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सहयोग से आयोजित गो संरक्षण पर एक […]

केंद्रीय वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि दूध देना बंद कर देने वाली गायों को बेचने से किसानों को रोकने के लिए सरकार गाय रखने वालों को मुफ्त चारा मुहैया कराने की योजना पर विचार कर रही है। राष्ट्रीय गोधन महासंघ द्वारा केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सहयोग से आयोजित गो संरक्षण पर एक सम्मेलन में जावड़ेकर ने कहा कि यह योजना ऐसी गायों की देखभाल के लिए तैयार की जा रही है जो दूध देना बंद कर देती हैं। इससे चारे के लिए मवेशियों को जंगल ले जाने से वन क्षेत्र को होने वाले नुकसान से भी बचा जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि गाय के दूध देना बंद करने की स्थिति में गो संरक्षण के लिए किसानों को प्रोत्साहित करना बड़ी चुनौती है। किसान गायों को तभी तक चारा खिलाते हैं, जब तक वह दूध देती है लेकिन जब दूध देना बंद कर देती है तो वे आर्थिक बाध्यताओं के कारण उसे कसाई को सौंप देते हैं।

जावड़ेकर ने कहा कि किसान गाय को प्यार करता है लेकिन उसके दूध देना बंद करने पर चारा खिलाना उसके लिए बड़ी चिंता होती है। हम इस बारे में विचार कर रहे हैं कि गांवों के आसपास के जंगलों का इस कार्य में कैसे उपयोग किया जा सकता है। सरकार मनरेगा के तहत आने वाले वन क्षेत्र में घास उगाने का इरादा कर रही है। यह घास आसपास के किसानों को बिना कोई राशि लिए दी जाएगी। योजना जल्द लागू की जाएगी।

मंत्री ने कहा कि सरकार गोशाला बनाने के लिए दी जाने वाली अनुदान राशि बढ़ाने के बारे में भी विचार कर रही है। उन्होंने गाय के दूध की उत्पादकता बढ़ाने को भी चुनौती माना। इस दिशा में भाजपा शासित हरियाणा में सबसिडी घोषित किए जाने की उन्होंने सराहना की। उन्होंने कहा कि हमारी गायें कब तक दो लीटर दूध देती रहेंगी। हरियाणा सरकार ने उन लोगों को प्रोत्साहित करने की पहल की है, जिनकी गाय दो लीटर से छह लीटर दूध देती हैं। गाय खरीदने के लिए सबसिडी की भी पेशकश की जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनकड और अन्य लोगों ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App