ताज़ा खबर
 

भोजपुरी की तारीफ करते हुए संसद में गाने लगे रवि किशन, स्पीकर बिरला ने रोका

संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाएं शामिल हैं। इसमें असमिया, बंगाली, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, ओडिया, पंजाबी, संस्कृत, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू, बोडो, संताली, मैथिली, और डोगरी जैसी भाषाएं हैं।

Author नई दिल्ली | July 2, 2019 9:16 AM
भाजपा सांसद और भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन।

भाजपा सांसद और भोजपुरी स्टार रवि किशन ने सोमवार (1 जुलाई, 2019) को लोकसभा में भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसुची में शामिल करने की मांग की। इस दौरान किशन ने भोजपुरी में एक गीत गाना शुरू किया तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें बीच में ही रोकते हुए कहा कि आप सिर्फ अपनी बात रखिए। दरअसल सदन में शून्यकाल के दौरान रवि किशन ने अपनी बात रखते हुए कहा कि देश में करीब 25 करोड़ लोग भोजपुरी बोलते और समझते हैं। मॉरीशस में इसे दूसरी राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला हुआ है। कई कैरेबियाई देशों में भोजपुरी बोली जाती है।

भोजपुरी स्टार ने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की एक सभा में भोजपुरी में जनता का अभिवादन किया तो लोगों को लगा अब भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल कर लिया जाएगा। इसी दौरान रवि किशन भोजुपरी भाषा की तारीफ करते हुए भोजपुरी में गीत गाने लगे, इसपर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा, ‘आप सिर्फ अपनी बात रखिए।’ खास बात है कि रवि किशन ने जब भोजुपरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की तो सत्तापक्ष के अलावा विपक्ष के सांसदों ने भी उनका समर्थन किया।

बता दें कि संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाएं शामिल हैं। इसमें असमिया, बंगाली, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, ओडिया, पंजाबी, संस्कृत, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू, बोडो, संताली, मैथिली, और डोगरी जैसी भाषाएं हैं।

वहीं दार्जिलिंग से भाजपा के लोकसभा सदस्य राजू बिस्ता ने अपने क्षेत्र में पुलिस उत्पीड़न का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इस बारे में तथ्यान्वेषी समिति गठित की जाए और गोरखा लोगों को न्याय मिले। इस पर तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा कि उनकी पार्टी गोरखालैंड राज्य की मांग का विरोध करती है। भाजपा के रमेश धागुक ने कहा कि पोरबंदर हवाई अड्डे का नाम कस्तूरबा गांधी हवाई अड्डा किया जाना चाहिए। भाजपा की शोभा करंदलाजे ने कर्नाटक में आयुष्मान भारत योजना के क्रियान्वयन में अवरोध डाले जाने का मुद्दा उठाया और केंद्र सरकर से इस संबंध में कदम उठाने की मांग की। (भाषा इनपुट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली: पार्किंग के विवाद में भड़का सांप्रदायिक तनाव, मंदिर में तोड़फोड़ का आरोप, सुरक्षाबल करने पड़े तैनात
2 नई व्यवस्था के खिलाफ कारोबारी खड़े