ताज़ा खबर
 

नाथूराम गोडसे की कार संभाल रहे जावेद रहमान, निलामी में खरीदी थी

1930 की इस ‘स्टड बेकर’ कार को आम तौर पर ‘द किलर कार’ के रूप में जानते हैं। इस कार की नंबर प्लेट पर ‘यूएसएफ 73’ के साथ ही ‘किलर’ भी लिखा हुआ है।

Author नई दिल्ली | Published on: February 27, 2017 1:22 AM
Nathuram Godse, Nathuram Godse RSS, Mahatma Gandhi, Mahatma Gandhi Assasination, Mahatma Gandhi Murder, Gandhi Murder Conspiracy, RSS Killed Gandhi, Who Killed gandhi, Godse RSS Links, Veer Savarkar, Hindu Mahasabha, Godse Ideology, India News, Jansattaनाथू राम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को महात्‍मा गांधी की हत्‍या की थी।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की गोली मार कर हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे ने हत्या में जिस कार का इस्तेमाल किया था वह 1930 में बनी अमेरिकी कार ‘स्टड बेकर’ थी। उपलब्ध जानकारी के अनुसार गोडसे के पकड़े जाने के बाद इस कार को जब्त कर लिया गया था और बाद में 1978 में इसे नीलाम कर दिया गया था। अब यह कार दिल्ली के ही जावेद रहमान गैराज में खड़ी है।जावेद रहमान ने यहां विशेष बातचीत में कहा, ‘गांधी जी की हत्या के दौरान गोडसे ने इसी कार का उपयोग किया था। गोडसे को बाद में पकड़ लिया गया था और उनकी कार जब्त कर ली गई थी। मेरी जानकारी के मुताबिक बाद में इस कार की 1978 में नीलामी कर दी गई थी। ’दिल्ली के लक्ष्मी नगर निवासी 32 साल के रहमान ने बताया कि इसे उनके भाई परवेज सिद्दीकी ने बरेली के कमाल साहब से साल 2000 खरीदा था। उन्हें विंटेज कारों का शौक था। 1930 की इस ‘स्टड बेकर’ कार को आम तौर पर ‘द किलर कार’ के रूप में जानते हैं। इस कार की नंबर प्लेट पर ‘यूएसएफ 73’ के साथ ही ‘किलर’ भी लिखा हुआ है।

रहमान ने कहा, ‘17 साल पहले ही हमने इस कार की मरम्मत कराई थी। जब यह उन्हें मिली थी तो बिलकुल कबाड़ की स्थिति में थी। हालांकि तब से इस कार में कोई बड़ी खराबी नहीं आई है। इसे सिद्दीकी ने खुद अपने हाथों से ठीक किया था।’रहमान के मुताबिक जब उन्होेंने यह कार खरीदी थी तब इसका रंग ‘क्रीम’ और ‘डार्क ब्राउन’ था। अभी इस कार का रंग ‘गहरा हरा’ और ‘काला’ है।उन्होंने कहा कि यह अभी 35 बीएचपी की शक्ति देती है और 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार तक दौड़ सकती है। यह एक लीटर पेट्रोल में चार किलोमीटर की दूरी तय करती है। इसके किरमिच को हटा कर खुली कार के तौर पर भी इसका उपयोग किया जा सकता है। इसको चालू हालत में रखने के लिए वह इसे सप्ताह में एक बार अवश्य चलाते हैं और देश की कई विंटेज कार रैलियों में भी ले जाते हैं।पेशे से हीरे के कारोबारी रहमान ने बताया कि इस कार का निर्माण विशेष आॅर्डर पर किया गया था। इस तरह यह अपनी तरह की पूरी दुनिया में इकलौती कार है।

’जावेद रहमान ने एक विशेष बातचीत में कहा, ‘गांधी जी
की हत्या के दौरान गोडसे ने यही कार उपयोग की थी। ’गोडसे को बाद में पकड़ लिया गया था और उनकी कार
जब्त कर ली गई थी। मेरी जानकारी के मुताबिक बाद में
इस कार की 1978 में नीलामी कर दी गई थी।

’दिल्ली के लक्ष्मीनगर निवासी 32 साल के रहमान ने
बताया कि इसे उनके भाई परवेज सिद्दीकी ने बरेली के
कमाल से साल 2000 में खरीदा था। 1930 की इस
‘स्टड बेकर’ कार को ‘द किलर कार’ भी कहते हैं। कार
की नंबर प्लेट पर ‘यूएसएफ 73’ संग ‘किलर’ भी
लिखा हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सीनियर लड़कियों पर 7 साल की स्टूडेंट को बेहोश कर छेड़छाड़ का आरोप, खाली क्लास रूम में कपड़े उतार करती थीं गंदी हरकतें
2 पार्टी के बहाने डीयू स्टूडेंट के साथ दोस्तों ने किया गैंगरेप, कार में लिफ्ट देने वाले ने भी बनाया हवस का शिकार
3 वाशिंग मशीन में डूबने से तीन साल के जुड़वां बच्चों की मौत