scorecardresearch

VIDEO: उद्घाटन के बाद जब नए टनल में कचरे पर पड़ी नरेंद्र मोदी की निगाह, देखें PM ने आगे क्या किया?

PM Modi Inaugurates Pragati Maidan Tunnel: पीएम मोदी प्रगति मैदान टनल का निरीक्षण करने पहुंचे हुए थे। इस दौरान रास्ते में उन्हें पानी की खाली बोतल और एक गुटके का एक खाली पैकेट मिला, जिसे उन्होंने उठाया और बाद में कूड़ेदान में जाकर फेंक दिया।

PM Modi | Pragati Maidan | पीएम मोदी ने कचरा उठाया
प्रगति मैदान में टनल का निरीक्षण करते हुए कूड़ा उठाते पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो: वीडियो ग्रैब/ पीएमओ)

दिल्ली में प्रगति मैदान टनल के निरीक्षण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वहां सामने कचरा मिला। उन्होंने उसे फौरन खुद उठाया और लेकर आगे चल दिए। पीएम ने बाद में उसे डस्टबिन में फेंका।

दरअसल, पीएम ने रविवार (19 जून, 2022) को आईटीपीओ सुरंग के तहत प्रगति मैदान में एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना (Pragati Maidan Integrated Transit Corridor) की मुख्य सुरंग और पांच अंडरपास का उद्घाटन किया। पीएम इसके बाद टनल में खुद मुआयना करने पहुंचे, जहां सड़क किनारे उनकी नजर गुटखेनुमा छोटे से टुकड़े पर जा पड़ी। उन्होंने उसे देखते ही फौरन उठाया और आगे लेकर चल दिए। बाद में वहां उन्हें एक खाली बोतल भी मिली, जिसे उन्होंने बाद में कूड़ेदान में जाकर फेंका।

समाचार एजेंसी एएनआई ने इस पूरे वाकये से जुड़ा एक वीडियो भी जारी किया है। 31 सेकेंड की इस क्लिप में साफ-सफाई के प्रति पीएम मोदी की सजगता और संवेदनशीलता साफ देखने को मिलती है।

पीएम मोदी ने टनल का उद्घाटन करते हुए कहा कि आज दिल्ली को केंद्र सरकार की तरफ से आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का बहुत सुंदर उपहार मिला है। इतने कम समय में एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर को तैयार करना आसान नहीं था। जिन सड़कों के इर्द-गिर्द ये कॉरिडोर बना है वो दिल्ली की सबसे व्यस्ततम सड़कों में से एक है। लेकिन, यह नया भारत है। समस्याओं का समाधान भी करता है, नए संकल्प भी लेता है और उन संकल्पों को सिद्ध करने के लिए प्रयास भी करता है।

देश की राजधानी में विश्व स्तरीय कार्यक्रमों के लिए स्टेट ऑफ आर्ट सुविधाएं हों, एक्जीबिशन हॉल हों, इसके लिए भारत सरकार निरंतर काम कर रही है। दिल्ली-एनसीआर की समस्याओं के समाधान के लिए बीते 8 सालों में हमने अभूतपूर्व कदम उठाए हैं। बीते 8 सालों में दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो सेवा का दायरा 193 किलोमीटर से करीब 400 किलोमीटर तक पहुंच चुका है। इस दौरान उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपनी 10 फीसदी यात्राएं मेट्रो से करने की अपील भी की।

प्रगति मैदान टनल बनने के बाद आईटीओ, मथुरा रोड, भौरो मार्ग से रोजाना गुजरने वाली करीब 1.50 लाख लोगों को जाम से बड़ी राहत मिलेगी। इस सुरंग को बनाने में 900 करोड़ रुपए से अधिक की लागत आई है, इसे आधुनिक बनाने के साथ ही सौन्दर्यीकरण के लिए बड़ी वॉल पेंटिंग बनाई गई है।

पढें नई दिल्ली (Newdelhi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट